Hindi News »Rajasthan »Mandal» हत्या का आरोपी व महिला साथी गिरफ्तार, ‌Rs.50 का नोट भी मिला जो आरोपी ने बालक को दिया था

हत्या का आरोपी व महिला साथी गिरफ्तार, ‌Rs.50 का नोट भी मिला जो आरोपी ने बालक को दिया था

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा/ मांडल मलगाणी के ग्यारह वर्षीय बालक नरेंद्रकुमार की हत्या के आरोप में मांडल पुलिस...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 02, 2018, 05:50 AM IST

भास्कर संवाददाता | भीलवाड़ा/ मांडल

मलगाणी के ग्यारह वर्षीय बालक नरेंद्रकुमार की हत्या के आरोप में मांडल पुलिस ने गुरुवार को आरोपी और उसकी महिला साथी को गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या अवैध संबंध उजागर हो जाने की आशंका में की गई थी। दैनिक भास्कर ने बुधवार को ही खबर में मामले का खुलासा कर दिया था। इसमें बताया था कि आरोपी ने छात्र को पहले बहलाते हुए 50 रुपए देकर खेत पर भेजा। वहां जाकर हत्या कर दी और शव कुएं में फेंका।

मांडल एसएचओ दिनेशकुमार ने बताया कि मलगाणी गांव के ही रामेश्वरलाल व महिला साथी रामकन्या को लापता छात्र नरेंद्र पुत्र शंभुलाल की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया गया। मंगलवार रात करीब 10 बजे तक नरेंद्र का पता नहीं चला तब परिजनों ने मांडल थाने पर रिपोर्ट दी। इस पर सब इंस्पेक्टर दातारसिंह के नेतृत्व में एएसआई साबिर मोहम्मद व कांस्टेबल राजेश सालवी की विशेष टीम बनाई। टीम ने ग्रामीणों के साथ मिलकर रातभर छात्र की तलाश की, लेकिन पता नहीं चला। टीम ने नरेंद्र के हमउम्र बच्चों से बात की। इसमें सामने आया कि नरेंद्र ने उन्हें ताऊ को टिफिन देकर आने के बाद एक बात बताने के लिए बोला था, लेकिन इसके बाद वह नहीं लौटा। बच्चों की बातों से पुलिस को हत्या अवैध संबंध के कारण कर देने का संदेह हुआ। पुलिस को पता चला कि जब ग्रामीण रातभर नरेंद्र को तलाश रहे थे, उस वक्त आरोपी घर में सो रहा था। देर सुबह तक भी घर से नहीं निकलने पर पुलिस का संदेह पुख्ता हो गया। थाने लाकर पूछताछ में उसने गुनाह कबूल कर लिया।

रामेश्वर 5 दिन से नरेंद्र को ठिकाने लगाने की फिराक में था

आरोपी रामेश्वर पांच दिन से मौका देख रहा था कि कब नरेंद्र रात के वक्त अकेला मिले और वह अपनी योजना को मूर्त रूप दे। मंगलवार देर शाम 7 बजे वह तलाशते हुए नरेंद्र के पास पहुंचा। उसे 50 रुपये का लालच देकर खेत की तरफ लेकर गया, जहां गला दबाकर हत्या कर दी। रामेश्वर ने नरेंद्र का शव गोपाल भील के कुएं में डाल दिया ताकि शक की सुई उसकी तरफ न रहे और गोपाल पर संदेह हो।

रोज 10-20 रुपए देकर चुप रहने की कहता था...सहाड़ा एएसपी प्रेरणा शेखावत व मांडल सीओ चंचल मिश्रा ने आरोपी रामेश्वर के साथ वारदात स्थल का निरीक्षण किया। आरोपी ने बताया कि वह रोज नरेंद्र को 10-20 रुपए देकर कहता था कि यह बात किसी को नहीं बताने की कहता था।

मां को रात में नहीं बताया, सुबह शव घर ले गए तो बिगड़ी तबीयत... नरेंद्र का बुधवार शाम शव मिल गया था। मां को गुरुवार सुबह तक इसकी जानकारी नहीं थी। सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव घर ले जाया गया। दाह-संस्कार के लिए रवाना हुए तब परिवार के लोगों की चीत्कार फूट पड़ी। मां यह दृश्य देखकर बेसुध हो गई। उसका उपचार जारी है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Mandal

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×