• Home
  • Rajasthan News
  • Mandal News
  • भागवत कथा में आए श्रद्धालुओं में बंटवाया 51 किलो आमरस का प्रसाद
--Advertisement--

भागवत कथा में आए श्रद्धालुओं में बंटवाया 51 किलो आमरस का प्रसाद

मांडल | संगीतमयी रामकथा के चौथे दिन कृष्ण किंकर महाराज ने कहा कि जो दूसरों के काम आए उसे ही इंसान कहते हैं। मनुष्य...

Danik Bhaskar | May 06, 2018, 05:25 AM IST
मांडल | संगीतमयी रामकथा के चौथे दिन कृष्ण किंकर महाराज ने कहा कि जो दूसरों के काम आए उसे ही इंसान कहते हैं। मनुष्य जीवन का अस्तित्व तभी सफल है जब मनुष्य किसी जरूरतमंद के लिए काम आए।

दूसरों के लिए दुःख में सदैव सेवा और सहयोग के लिए तैयार रहे। ऐसे ही गुणों वाले व्यक्ति को इंसान कहते हैं। इसलिए सदैव परोपकार के लिए जीवन समर्पित रखें। कथा में भक्तों को शांतिलाल गुर्जर की तरफ से 51 किलो आमरस व रामप्रसाद तड़बा की ओर से ठंडाई का प्रसाद वितरण किया गया। आयोजन समिति के मनोज सेन, भैरूलाल तड़बा ने बताया कि श्रीराम नामकरण संस्कार, बाल क्रीड़ाएं, अल्पकाल में शिक्षा ग्रहण, कर्म प्रधानता, माता अहिल्या उद्धार, धनुष वध, सीता स्वयंवर इत्यादि प्रसंगों पर प्रवचन हुआ। इस दौरान सेवा समिति के दुर्गेश तिवाड़ी, प्रद्युम्न पुरोहित, कमलेश वैष्णव, राजकुमार तड़बा, सुदर्शन तिवाड़ी, मुरलीमनोहर जोशी आदि का सहयोग रहा।