Hindi News »Rajasthan »Maniya» असहाय व निर्धन की सेवा करना सबसे बड़ा पुण्य का कार्य :सत्येंद्र

असहाय व निर्धन की सेवा करना सबसे बड़ा पुण्य का कार्य :सत्येंद्र

क्षेत्र के गांव पिपरौन में रविवार को असहायों को कंबल वितरण का कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jan 16, 2018, 05:55 AM IST

क्षेत्र के गांव पिपरौन में रविवार को असहायों को कंबल वितरण का कार्यक्रम आयोजित हुआ। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश कांग्रेस सचिव यूथ एवं प्रधान प्रतिनिधि सत्येंद्र गुर्जर रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता पिपरौन सरपंच भगवान सिंह परमार ने की। विशिष्ट अतिथि सरपंच रामदीन कुशवाह, हरिसिंह परमार, तिमासिया, लल्लू सिंह धोर्र, सुरेश पहलवान बनोरा रहे। इस दौरान मुख्य अतिथि सत्येंद्र गुर्जर ने कहा कि मकर संक्रांति का पर्व एक दान पुण्य का पर्व है। ऐसे पर्व पर असहायों की मदद करना सुखद अनुभव है। साथ ही उन्होंने कहा कि ऐसे कार्यों के लिए अन्य भामाशाहों को भी आगे आना चाहिए तथा समाज के असहाय व निर्धन लोगों के लिए दान कर सेवा करनी चाहिए। क्योंकि मनुष्य की सेवा से बढ़कर कोई भी पुण्य का कार्य नहीं है। कार्यक्रम के आयोजक सरपंच भगवान सिंह परमार ने कहा कि जरूरतमंदों को मदद करने से सबसे बड़ा पुण्य का कार्य होता है। यह एक पुनीत कार्य है। समाज का कोई भी व्यक्ति अपने आप को पिछड़ा हुआ महसूस ना करें। ऐसे कार्यों के लिए समाज के धनाढ्य लोगों को आगे आकर कार्य करना होगा। इस दौरान कार्यक्रम में अनेक वक्ताओं ने अपने-अपने विचार व्यक्त किए। इसके बाद कार्यक्रम में मौजूद अतिथियों द्वारा निर्धन व असहाय लोगों को 200 कंबल वितरित किए। इस दौरान कार्यक्रम में पंचायत सचिव रमेश परमार, शिवकांत गौर, जगदीश सहित कई ग्रामीण मौजूद रहे।

धर्म-समाज

बसेड़ी. कार्यक्रम में कम्बल वितरित करते सत्येंद्र गुर्जर।

मनियां। विद्यालय में स्वेटर वितरित करते अतिथि

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Maniya News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: ashaay v nirdhn ki sevaa karnaa sabse bdeaa puny ka kary :styendr
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Maniya

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×