Hindi News »Rajasthan »Maniya» कुश्ती दंगल भारत का प्राचीन खेल : सीओ

कुश्ती दंगल भारत का प्राचीन खेल : सीओ

राजाखेड़ा| नगरपालिका की ओर से प्रति वर्ष की भांति विशाल चौथ कुश्ती दंगल का आयोजन खासा स्टेडियम पर तहसील परिसर की...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 06, 2018, 06:00 AM IST

कुश्ती दंगल भारत का प्राचीन खेल : सीओ
राजाखेड़ा| नगरपालिका की ओर से प्रति वर्ष की भांति विशाल चौथ कुश्ती दंगल का आयोजन खासा स्टेडियम पर तहसील परिसर की बाउंड्री के पीछे किया गया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि बचन सिंह मीणा सीओ मनिया रहे। कुश्ती दंगल की शुरुआत में कार्यवाहक नगरपालिका के अधिशाषी अधिकारी आशीष, पूर्व चेयरमैन अजब सिंह ने भूमि पूजन कर दंगल की शुरुआत की। इस अवसर पर दंगल कमेटी द्वारा अतिथियों का माला व साफा पहनाकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम को सं‍बोधित करते हुए मीणा ने कहा कि कुश्ती भारत का एक प्राचीन खेल है इस खेल का सरंक्षण होना चाहिए। कुश्ती दंगल में सबसे पहले नन्हे मुन्ने बच्चों की दर्जनों कुश्तियां कराई गई जिन्हें पुरस्कार के रूप में लड्डू देकर सम्मानित किया गया। दंगल में मुख्य आखिरी कुश्ती का मुकाबला प्रवेन्द्र सोना पहलवान हरियाणा व रवि सिकरवार पहलवान आगरा के बीच दंगल कमेटी के निर्णय अनुसार कराया गया। रोचक मुकाबले के बाद आखिरी कुश्ती बराबरी पर रही। आखिरी कुश्ती के पुरस्कार को दोनों पहलवानों को बराबर देकर सम्मानित किया गया। दंगल में कुश्तियां के निर्णायक कैलाश चिहार, वैजनाथ सिंह, अशोक शर्मा, राजेश शर्मा, इन्द्रजीत शर्मा, प्रमोद जरगा, माधेसिह मौजूद रहे। मंच संचालन लक्ष्मण सिंह एवं जितेन्द्र जादौन द्वारा किया गया।

ये रहे विजेता : दंगल में आखिरी कुश्ती के अलावा सोनवीर कुन्डोल, राहुल कुकथरी, गोविंद दिल्ली, कृष्णा मुरैना, महिला पहलवान सीमा हाथरस, दामिनी, सोनिया, नीलम ने जीतकर नगद इनाम प्राप्त किया।

राजाखेड़ा. चौथ दंगल में जोर आजमाइश करते पहलवान।

राजाखेड़ा. चौथ दंगल में जोर आजमाइश करते पहलवान।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Maniya News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: कुश्ती दंगल भारत का प्राचीन खेल : सीओ
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Maniya

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×