• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Merta News
  • मेड़ता-पुष्कर रेल लाइन को स्वीकृति और रेल बस के बजाए डीएमयू के फेरे बढ़े तो बने बात
--Advertisement--

मेड़ता-पुष्कर रेल लाइन को स्वीकृति और रेल बस के बजाए डीएमयू के फेरे बढ़े तो बने बात

भास्कर संवाददाता | मेड़ता रोड देश में दूसरी बार आम बजट के साथ रेल बजट गुरुवार को पेश किया जाएगा। इसमें नागौर जिले...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:10 PM IST
भास्कर संवाददाता | मेड़ता रोड

देश में दूसरी बार आम बजट के साथ रेल बजट गुरुवार को पेश किया जाएगा। इसमें नागौर जिले की बहुप्रतीक्षित मांगों पर यदि मुहर लगे तो बजट सार्थक साबित हो सकता है। आम बजट व रेल बजट वर्ष 2016 तक अलग अलग पेश होते थे।

मगर गत वर्ष से आम बजट के साथ ही रेल बजट पेश किया जाने लगा है। नागौर जिले के वाशिंदों को इसमें नई ट्रेनें, ट्रेनों का विस्तार, दोहरीकरण, ट्रैक के सर्वे के लिए व परियोजनाओं के लिए बजट, नई रेल लाइन, ट्रेनों का ठहराव, नई परियोजनाएं आदि मिलने की उम्मीदें है।

नागौर-फलौदी रेलवे ट्रैक के लिए 8 साल पहले सर्वे

मेड़ता सिटी और पुष्कर के बीच 59 किमी रेल लाइन बिछाने को लेकर गत रेल बजट 2013 में पंचवर्षीय योजना में लिया गया था। मगर रेलमार्ग के लिए राशि की उम्मीद इस बजट में है। रेलमार्ग के लिए भाजपा सरकार से बड़ी उम्मीद थी कि इस रेलमार्ग के लिए तो अवश्य ही राशि स्वीकृत होगी। इसके साथ ही उत्तर पश्चिम रेलवे के प्रमुख रेलवे स्टेशनों में से एक नागौर रेलवे स्टेशन को जंक्शन में तब्दील करने के लिए करीब आठ साल पहले रेलवे ने नागौर से फलौदी के बीच रेलवे लाइन बिछाने के लिए सर्वे करवाया था। इस सर्वे के दौरान लोगों में आशा की किरण जगी थी। यह रेलमार्ग सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण साबित होगा। नागौर से फलौदी तक करीब 147.08 किमी ब्रॉडगेज लाइन के लिए करीब 200 करोड़ रुपए का प्रस्ताव बनाकर रेलवे को भेजा गया था। लेकिन अभी तक इस दिशा में कोई खास प्रगति नहीं हो पाई है। अब लोग आशांवित हैं।

इन साप्ताहिक ट्रेनों को किया जाए नियमित

बीकानेर- दादर द्विसाप्ताहिक ट्रेन को नियमित करते हुए मेड़ता रोड में ठहराव किया जाए।

बीकानेर- सिकंदराबाद, जोधपुर- पुरी एक्सप्रेस, गुवाहाटी एक्सप्रेस, अहमदाबाद- जम्मूतवी विवेक एक्सप्रेस साप्ताहिक ट्रेन को प्रतिदिन किया जाए।

मेड़ता रोड- मेड़ता सिटी के बीच संचालित रेल बस को बंद कर नियमित रूप से डीएमयू चलाया जाए। तथा जो एक एक टर्न डीएमयू चलाया जा रहा है उसके टर्न बढ़ाते हुए समय में परिवर्तन किया जाए।

बाड़मेर से हावड़ा, हरिद्वार तक वाया डेगाना, रतनगढ़ होकर ट्रेन चलाई जाए।

राइाकाबाग- डेगाना तक दोहरीकरण का बजट मिलेगा

24 दिसंबर 2017 को रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष अश्विनी लोहानी निरीक्षण पर आए तो बड़ी सौगात मिल गई। जोधपुर मंडल रेल प्रबंधक गौतम अरोरा ने चेयरमैन को बताया कि जोधपुर रेलवे स्टेशन से से लूणी तक 30 किमी तक डबल लाइन है। हाल ही में मंडल के डेगाना- फुलेरा दोहरीकरण प्रोजेक्ट का शिलान्यास हुआ है। इस पर चेयरमैन भी दंग रह गए कि अब जोधपुर- लूणी से डेगाना की दूरी कितनी है। बीच का रेलमार्ग क्यों छोड़ा गया है, क्या दोहरीकरण के लिए प्रोजेक्ट तैयार किया। तब बताया गया कि जोधपुर से मेड़ता रोड के बाद बीकानेर की ओर तथा डेगाना से दिल्ली के लिए ट्रेनें डायवर्ट होती है। इसलिए आवश्यकता जोधपुर से डेगाना तक दोहरीकरण की अधिक है। इस पर तुरंत दिल्ली मुख्यालय पर दूरभाष पर जानकारी ली और इस प्रोजेक्ट की जानकारी लेते हुए आगामी रेल बजट में शामिल करने के निर्देश देते हुए महाप्रबंधक व डीआरएम से कहा कि यह रेल लाइन मंजूर कर दी है। इसे जल्द पूरा किया जाए। राइकाबाग से डेगाना व डेगाना से फुलेरा, दोनों छोर के एक साथ काम शुरू करने को भी कहा गया। इसलिए आज होने वाले बजट में इस योजना के लिए बजट मिलने की पूरी पूरी संभावना है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..