• Hindi News
  • Rajasthan
  • Merta
  • 15 धार्मिक स्थलों का भ्रमण कर 10 जून को वापस पहुंचेगी मेड़ता
--Advertisement--

15 धार्मिक स्थलों का भ्रमण कर 10 जून को वापस पहुंचेगी मेड़ता

Dainik Bhaskar

Jun 04, 2018, 05:05 AM IST

Merta News - भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी पिछले चार दशक से पुरुषोत्तम (अधिक मास ) महीने में निकलने वाली सात दिवसीय मीरा नगर...

15 धार्मिक स्थलों का भ्रमण कर 10 जून को वापस पहुंचेगी मेड़ता
भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी

पिछले चार दशक से पुरुषोत्तम (अधिक मास ) महीने में निकलने वाली सात दिवसीय मीरा नगर परिक्रमा इस बार सोमवार को रवाना होगी। इस आयोजन को लेकर मेड़ता नगर परिक्रमा समिति ने तैयारियां पूर्ण कर ली हैं।

परिक्रमा में श्रद्धालु सोमवार सुबह मीराबाई एवं चारभुजा मंदिर में मंगला आरती के दर्शन करने के बाद सुबह 7 बजे चारभुजा चौक से गाजे-बाजे के साथ रवाना होंगे।

परिक्रमा में खोखरिया जोधपुर के संत कमल दास महाराज का सान्निध्य मिलेगा। आयोजन समिति के फकीरचंद शर्मा व सचिव अशोक राठी ने बताया कि सात दिवसीय नगर परिक्रमा मेड़ता क्षेत्र के 15 धार्मिक स्थलों का भ्रमण कर 10 जून को मेड़ता लौटेगी। यात्रा में 500 से अधिक महिला पुरुष यात्री शामिल होंगे।

जिनके ठहरने, भोजन, पानी, रोशनी, चिकित्सा आदि का प्रबंधन रहेगा। आयोजन को लेकर तैयारियों को अंतिम रूप दे दिया गया।

यह रहेगा नगर परिक्रमा यात्रा का रूट

चारभुजा मंदिर से सोमवार सुबह रवाना होने वाली यह नगर परिक्रमा यात्रा डांगावास स्थित भीमशंकर महादेव मंदिर पांचडोलिया में दर्शन करेगी। इसके बाद 5 जून को गणेशपुरा, बड़वासन माताजी मंदिर व 6 जून को मौजीराम का बेरा, भूरियासनी कदम-कदमनी वृक्ष पहुंच विश्राम करेगी। इसके बाद 7 जून को मोकलपुर, लांबा स्थित पावणी नाडी, 8 जून को लांबा स्थित बीरा का बेरा एवं कलरू स्थित परसाराम मंदिर, 9 जून को केवलचंद की फैक्ट्री एवं देवरा नाडा तथा 10 जून को महादेव मंदिर इंडडी नाडी एवं चारभुजा मंदिर पहुंचेगी। जहां रात में भक्ति संध्या का आयोजन होगा। जिसमें क्षेत्रीय भजन गायक भजनों की प्रस्तुति देंगे। परिक्रमा में श्रद्धालुओं को किसी प्रकार की असुविधा ना हो इसके लिए समिति की ओर से पूरी व्यवस्था की गई है। समिति की ओर से यात्रा से पूर्व वाहन द्वारा पूरे रूट का अवलोकन किया गया। इस दौरान यात्रा में शामिल श्रद्धालुओं का रात्रि विश्राम, दोपहर में विश्राम, भजन-कीर्तन आदि को लेकर रूट के विभिन्न धार्मिक स्थलों में व्यवस्था की गई है।

X
15 धार्मिक स्थलों का भ्रमण कर 10 जून को वापस पहुंचेगी मेड़ता
Astrology

Recommended

Click to listen..