Hindi News »Rajasthan »Merta» नरेगा कार्मिकों का धरना 30वें दिन भी रहा जारी, मांगें नहीं मानने पर प्रदर्शन को देंगे गति

नरेगा कार्मिकों का धरना 30वें दिन भी रहा जारी, मांगें नहीं मानने पर प्रदर्शन को देंगे गति

भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी (आंचलिक) महात्मा गांधी नरेगा कार्मिक संघ का बुधवार को 30वें दिन भी हड़ताल व क्रमिक...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 31, 2018, 05:15 AM IST

नरेगा कार्मिकों का धरना 30वें दिन भी रहा जारी, मांगें नहीं मानने पर प्रदर्शन को देंगे गति
भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी (आंचलिक)

महात्मा गांधी नरेगा कार्मिक संघ का बुधवार को 30वें दिन भी हड़ताल व क्रमिक अनशन जारी रहा। जबकि मंत्रालयिक कर्मचारी 13वें दिन भी अपनी मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर रहे। उधर शिक्षक संघ शेखावत पक्ष उप शाखा मेड़ता के संरक्षक लिखमाराम लांछ ने संविदा नरेगा कार्मिकों की मांगों को वाजिब बताते हुए समर्थन किया। संघ के प्रदेश प्रवक्ता करमाराम डांगा ने बताया कि महानरेगा कार्मिकों ने एसएसआर भर्ती 2013 के प्रत्यारित आदेश को निरस्त करने एवं कनिष्ठ लिपिक भर्ती 2013 को पुन: शुरू करने के साथ सभी संविदा कार्मिकों को नियमित नियुक्ति प्रदान करने की मांग लम्बित है। संघ के दीपक जोशी ने बताया कि राज्य सरकार संविदा कार्मिकों की मांगो को लेकर अब तक गंभीर नहीं है। ऐसे में आंदोलन को तेज करते हुए निरंतर धरना एवं क्रमिक जारी रखा जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार नरेगा कार्मिकों के आंदोलन को कुचलने का प्रयास कर रही है। आज एक माह बाद भी कार्मिकों से किसी प्रकार बातचीत शुरू नहीं की है। ऐसे में कार्मिकों में गहरा रोष व्याप्त है। धरना स्थल पर सहाबुदीन, हितेन्द्र मीना, रामनाथ कालवा, भगवतसिंह, कमलेशकंवर, लीला, रामलाल गरवा, शोभाराम, मंजू, श्रवण विश्नोई, उमेश, मनीष, सुरेन्द्र, मनोज, राजेश मीणा, अनिल धवल, विजय सिंह आदि मौजूद थे।

भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी (आंचलिक)

महात्मा गांधी नरेगा कार्मिक संघ का बुधवार को 30वें दिन भी हड़ताल व क्रमिक अनशन जारी रहा। जबकि मंत्रालयिक कर्मचारी 13वें दिन भी अपनी मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर रहे। उधर शिक्षक संघ शेखावत पक्ष उप शाखा मेड़ता के संरक्षक लिखमाराम लांछ ने संविदा नरेगा कार्मिकों की मांगों को वाजिब बताते हुए समर्थन किया। संघ के प्रदेश प्रवक्ता करमाराम डांगा ने बताया कि महानरेगा कार्मिकों ने एसएसआर भर्ती 2013 के प्रत्यारित आदेश को निरस्त करने एवं कनिष्ठ लिपिक भर्ती 2013 को पुन: शुरू करने के साथ सभी संविदा कार्मिकों को नियमित नियुक्ति प्रदान करने की मांग लम्बित है। संघ के दीपक जोशी ने बताया कि राज्य सरकार संविदा कार्मिकों की मांगो को लेकर अब तक गंभीर नहीं है। ऐसे में आंदोलन को तेज करते हुए निरंतर धरना एवं क्रमिक जारी रखा जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि राज्य सरकार नरेगा कार्मिकों के आंदोलन को कुचलने का प्रयास कर रही है। आज एक माह बाद भी कार्मिकों से किसी प्रकार बातचीत शुरू नहीं की है। ऐसे में कार्मिकों में गहरा रोष व्याप्त है। धरना स्थल पर सहाबुदीन, हितेन्द्र मीना, रामनाथ कालवा, भगवतसिंह, कमलेशकंवर, लीला, रामलाल गरवा, शोभाराम, मंजू, श्रवण विश्नोई, उमेश, मनीष, सुरेन्द्र, मनोज, राजेश मीणा, अनिल धवल, विजय सिंह आदि मौजूद थे।

बैंक कर्मचारी की हड़ताल, लाखों रुपयों का लेनदेन अटका

रेण| यूको बैंक के कर्मचारी अपनी विभिन्न मांगों को लेकर 30 व 31 मई को दो दिवसीय हड़ताल के पहले दिन बुधवार को बैंक बंद होने से लोगों को भारी परेशानी हुई। हड़ताल के कारण यूको बैंक पर ताले लटके मिले। जिससे उपभोक्ताओं के लाखों रुपए के लेनदेन अटक गए। बैंक कर्मियों ने बुधवार को सम्मान जनक वेतन की मांग को लेकर हड़ताल की। जिस कारण पेंशनरों, व्यापारियों, सरकारी कर्मचारियों, विद्यार्थियों को बैंक बंद होने के कारण परेशानी उठानी पड़ी। लोगों के लाखों रुपयों के चैक, नगद भुगतान, ड्राफ्ट आदि कार्य अटक गए। बैंक कर्मियों की हड़ताल आज भी रहेगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Merta News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: नरेगा कार्मिकों का धरना 30वें दिन भी रहा जारी, मांगें नहीं मानने पर प्रदर्शन को देंगे गति
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Merta

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×