Hindi News »Rajasthan »Merta» मेड़ता सिटी में जलापूर्ति के वाल्व चैम्बर में घुसा नाली का पानी, भास्कर की सूचना पर नगर पालिका ने निकलवाया गंदा पानी

मेड़ता सिटी में जलापूर्ति के वाल्व चैम्बर में घुसा नाली का पानी, भास्कर की सूचना पर नगर पालिका ने निकलवाया गंदा पानी

भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी मेड़ता शहर के सारड़ा बाजार के निकट एक जलापूर्ति वाल्व चैम्बर में सोमवार को नालियों...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 16, 2018, 05:20 AM IST

  • मेड़ता सिटी में जलापूर्ति के वाल्व चैम्बर में घुसा नाली का पानी, भास्कर की सूचना पर नगर पालिका ने निकलवाया गंदा पानी
    +2और स्लाइड देखें
    भास्कर संवाददाता | मेड़ता सिटी

    मेड़ता शहर के सारड़ा बाजार के निकट एक जलापूर्ति वाल्व चैम्बर में सोमवार को नालियों का गंदा पानी घुस गया। मंगलवार सुबह एक जागरूक नागरिक ने जब वाल्व को गंदे पानी से भरा पाया तो उन्होंने दैनिक भास्कर से वाल्व की सफाई कराने की गुहार की। इस पर भास्कर ने पालिका प्रशासन को अवगत कराया कि यदि इस वाल्व से सारड़ा बाजार जोन में सप्लाई हुई तो घरों में गंदे पानी की आपूर्ति हो जाएगी। क्योंकि पूरा वाल्व गंदे पानी से भरा पड़ा है। पालिका प्रशासन तुरंत हरकत में आया और जमादार के नेतृत्व में एक टीम भेजकर इस वाल्व से गंदा पानी निकलवाया। गौरतलब है कि इन दिनों पालिका प्रशासन विभिन्न गली मोहल्लों में नालियों का निर्माण करवा रहा है। गत दिवस शहर के सारड़ा बाजार के पास सेवगों की पोल में गणेश तिबारी के निकट नाली निर्माण हुआ। इस दौरान वहां मौजूद जलापूर्ति के वाल्व चैम्बर में आस पास की नालियों का पानी घुस गया। मंगलवार सुबह क्षेत्र के कुछ जागरूक व्यक्ति राजेन्द्र प्रसाद शर्मा ने की नजर वाल्व पर पड़ी तो उन्होंने पाया कि वाल्व नालियों के पानी से पूरा भरा हुआ नजर आया। इस दौरान राजेन्द्र शर्मा ने दैनिक भास्कर को इसकी सूचना दी। इस पर भास्कर प्रतिनिधि ने नगरपालिका के सफाई निरीक्षक शिवलाल बाना को इस समस्या से अवगत कराया और बताया कि सारड़ा बाजार जोन में एकाध दिन में जलापूर्ति होनी है यदि वाल्व के गंदे पानी को नहीं निकाला गया तो घरों में जलापूर्ति के साथ गंदा पानी भी चला जाएगा। बाना ने समस्या को गंभीरता से लेते हुए तत्काल जमादार रामअवतार अग्रवाल के नेतृत्व में एक टीम मौके पर भेजी और बाल्टियों की मदद से पूरा वाल्व चैम्बर खाली कराया। इस दौरान चैम्बर में करीब 100 से अधिक बाल्टी गंदा पानी निकाला गया।

    मेड़ता सिटी. सेवगों की पोल के निकट जलदाय विभाग के जलापूर्ति वाल्व में घुसे नालियों के गंदे पानी की निकासी करते पालिका कर्मचारी।

    सिविल लाइन के सुभाष नगर में नई पाइप लाइन बिछाने की मांग

    मेड़ता सिटी (आंचलिक) | मेड़ता शहर के सिविल लाइन क्षेत्र के लोगों ने जलदाय विभाग एक्सईएन को ज्ञापन पेश कर नई पाइप लाइन बिछा जलापूर्ति सुचारू किए जाने की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि सिविल लाइन स्थित सुभाष नगर कॉलोनी में स्थित शिशु निकेतन एवं मरुधर डिफेंस स्कूल की बीच गली में 30 वर्ष पूर्व भूमिगत पाइप लाइन बिछाई गई थी। जो कि वर्तमान में चॉक हो चुकी है। जिससे क्षेत्र में पेयजल संकट बना रहता है। ऐसे में नई पाइप लाइन बिछा कर क्षेत्र में जलापूर्ति सुचारू की जावें। वहीं समीप के करकवाल एवं करकवाल बासनी सुमेर में स्थित जीएलआर में जलापूर्ति नहीं होने के कारण ग्रामीणों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। स्थानीय निवासी चंपे खां ने बताया कि भीषण गर्मी के प्रकोप के चलते गांव में पीने के पानी का संकट बना हुआ है। जलदाय विभाग की ओर से 10 दिनों के अंतराल से जीएलआर में पानी छोड़ा जाता है। जो कि ग्रामीणों के लिए पर्याप्त नहीं है। इस संबंध में ग्रामीणों ने अधिशाषी अभियंता धन्ना राम चौहान के समक्ष गुहार लगा कर गांव में जलापूर्ति सुचारू कराएं जाने की मांग की है।

    न्यायाधीश दीपक पाराशर ने दैनिक भास्कर जल मित्र बनकर लिया पानी बचाने का संकल्प

    मेड़ता सिटी | लगातार गिरते भू-जल स्तर और कम बारिश के चलते बढ़ रहे जलसंकट को लेकर आमजन को जागरूक करने के लिए दैनिक भास्कर जल बचाओ अभियान चला रहा है। इसी कड़ी में भास्कर ने शहरों से लेकर गांव-ढाणियों तक जल मित्र बनाए हैं। ये जल मित्र आमजन को जल का महत्व समझाएंगे तथा इन्हें व्यर्थ जल बहाने पर रोकेंगे। दैनिक भास्कर के इस सामाजिक सरोकार की मुहिम से जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के पूर्णकालिक सचिव एसीजेएम न्यायाधीश दीपक पाराशर भी जुड़ गए हैं। न्यायाधीश पाराशर भास्कर के जल मित्र बने हैं। मंगलवार को यहां एडीआर सेंटर में दैनिक भास्कर के नागौर सैटेलाइट एडिटर प्रमोद आचार्य ने उन्हें जल मित्र का कार्ड दिया। इस दौरान पाराशर ने कहा कि भास्कर वाकई आमजन से जुड़े मुद्दे उठाता है तथा अभियान चलाकर उनका निस्तारण भी कराने में अहम भूमिका निभा रहा है। उन्होंने बताया कि जल मित्र अभियान के बारे में उन्होंने भास्कर में पढ़ा तथा अब वे आमजन को जल की महत्ता समझाते हुए पानी की बर्बादी रोकने के तरीके भी बताएंगे। उन्होंने जल बचाने की संकल्प भी लिया।

    थला की ढाणी व लांबा जाटन में पेयजल किल्लत

    रेण | ग्राम पंचायत रेण के राजस्व गांव थला की ढाणी, राहड़ों का बास, मेघवालों के बास में पाइप लाइन तो बिछाई हुई है मगर उच्चाधिकारी पाइप लाइन को जलदाय विभाग मेड़ता से नहीं जोड़ रहे हैं। जिससे गर्मी की मौसम में ग्रामीणों को परेशानी हो रही है। भाजपा ग्रामीण मंडल उपाध्यक्ष भागीरथ ने बताया कि जलदाय विभाग एक्सईएन, एईएन को बार-बार अवगत कराने के बावजूद भी पाइप लाइन को चालू नहीं किया जा रहा है। जिससे उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

    दधवाड़ा | गांव लांबा जाटान सहित आस-पास की ढाणियों में पेयजल किल्लत के चलते ग्रामीणों को परेशानी का हो रही है। गांव के नायकों, गहलोतों व कुम्हारों की ढाणियों में पिछले लंबे समय से पेयजल किल्लत है। लोगों को दूर-दराज के निजी नलकूपों से पानी लाना पड़ रहा है। वहीं टैंकर मंगवाने पड़ रहे है। लोगों ने बताया कि पानी की समस्या को लेकर कई बार प्रशासन को अवगत करवाया मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। ग्रामीणों ने जल्द समस्या के समाधान की मांग की है।

  • मेड़ता सिटी में जलापूर्ति के वाल्व चैम्बर में घुसा नाली का पानी, भास्कर की सूचना पर नगर पालिका ने निकलवाया गंदा पानी
    +2और स्लाइड देखें
  • मेड़ता सिटी में जलापूर्ति के वाल्व चैम्बर में घुसा नाली का पानी, भास्कर की सूचना पर नगर पालिका ने निकलवाया गंदा पानी
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Merta

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×