Hindi News »Rajasthan »Merta» मनरेगा संविदा कर्मियों की हड़ताल, मांगें नहीं मानी तो सभी पंचायतों पर करेंगे तालाबंदी

मनरेगा संविदा कर्मियों की हड़ताल, मांगें नहीं मानी तो सभी पंचायतों पर करेंगे तालाबंदी

मेड़ता सिटी (आंचलिक) | मेड़ता पंचायत समिति परिसर में संविदा मनरेगा कार्मिकों का धरना 31वें दिन भी जारी रहा। इस दौरान...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 01, 2018, 05:25 AM IST

मेड़ता सिटी (आंचलिक) | मेड़ता पंचायत समिति परिसर में संविदा मनरेगा कार्मिकों का धरना 31वें दिन भी जारी रहा। इस दौरान आंदोलन को लेकर सरपंच संघ एवं संविदाकार्मिकों की बैठक हुई। सरपंच संघ अध्यक्ष सुखाराम खदाव लूणियास ने बताया कि मनरेगा कार्मिकों के आंदोलन के चलते ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग के विकास कार्य रुके पड़े हैं। जिससे लोगों को समस्या हो रही है। सरपंच संघ मेड़ता ने राज्य सरकार से मांग की है कि 7 जून तक इन संविदा कार्मिकों के प्रति सकारात्मक रुख अपनाते हुए इनकी वाजिब मांगों को पूरी करें। ताकि ग्रामीण विकास कार्य शुरू हो सके। प्रदेश प्रवक्ता करमाराम डांगा ने बताया कि एलडीसी भर्ती 2013 व एसएसआर भर्ती 2013 को पुन: शुरू कर समस्त मनरेगा कार्मिकों को जल्द नियमित नियुक्तियां प्रदान करें। बैठक में प्रस्ताव पारित किया कि समय रहते सरकार ने संविदा नरेगा कार्मिकों की मांगों पर ध्यान नहीं दिया तो समस्त ग्राम पंचायतों के तालाबंदी कर ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग के समस्त कार्यों का बहिष्कार किया जाएगा। दूसरी ओर मंत्रालयिक कर्मचारियों का 14वें दिन भी लगातार सामूहिक अवकाश पर रहे। इस दौरान इंदावड़ सरपंच नंदाराम मेहरिया, सुखाराम, श्यामलाल, गोविंदराम, दीनाराम, मूलसिंह, चंद्राराम, धर्माराम, प्रकाशचंद, मंत्रालयिक कर्मचारी संघ मेड़ता ब्लॉक अध्यक्ष सियाराम, मदनाराम, सुमेरसिंह, महावीरप्रसाद, दिनेश मीणा, भानुप्रताप, भगवानराम, रामकिशोर, महेन्द्र, मूलदास, रामकरण डूकिया, रामनाथ मीणा नरेगा कार्मिक संघ ब्लॉक अध्यक्ष दीपक जोशी, करमाराम, सत्यनारायण, शोभाराम, रामनाथ, रामलाल, सहाबुदीन, मनोज, विजयसिंह, अनिल धवल, मनीष, सुरेंद्र, उमेशचंद्र, भगवतसिंह, हितेंद्र, मंजूदेवी, लीला, मुकेश आदि मौजूद रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Merta

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×