नागर

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nagar News
  • दूसरी कक्षा की छात्रा को लेने पहुंचे, छात्रा ने पहचानने से इंकार किया तो भाग छूटे
--Advertisement--

दूसरी कक्षा की छात्रा को लेने पहुंचे, छात्रा ने पहचानने से इंकार किया तो भाग छूटे

मालवीय नगर स्थित सेंट एंसलम स्कूल में मंगलवार को 2 युवक सैकंड क्लास में पढ़ रही छात्रा को लेने पहुंच गए। दोनों ने...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:00 AM IST
मालवीय नगर स्थित सेंट एंसलम स्कूल में मंगलवार को 2 युवक सैकंड क्लास में पढ़ रही छात्रा को लेने पहुंच गए। दोनों ने स्लीप पर बालिका का नाम लिखकर कक्षा में भिजवा दिया। इस पर क्लास टीचर ने छात्रा को रिसेप्शन पर भिजवा दिया। मगर बालिका ने दोनों युवकों को पहचानने से इंकार कर साथ जाने से मना कर दिया और मां से फोन पर बात कराने को कहा। तब दोनों युवक वहां से चले गए। घर जाकर बालिका ने परिजनों से पूछा कि आज किसको स्कूल लेने को भेजा था। तब मामले का पता चला। बालिका के परिजन अन्य अभिभावकों के साथ बुधवार सुबह स्कूल पहुंचे और प्रिंसिपल को लिखित शिकायत दी साथ ही दोनों युवकों के फुटेज दिखाने की मांग की। जिस पर प्रिंसिपल फादर एडवर्ड एलिवेरा ने गलती मानते हुए लिखित में माफी मांगी। परिजनों ने मालवीय नगर थाने में भी इस बारे में रिपोर्ट दी है। निजी बैंक में काम करने वाले मुकेश सिंह की बेटी एंसलम स्कूल में सैकंड कक्षा की छात्रा है। मालवीय नगर थाने में शिकायत छात्रा की मां सिंपल की ओर दी गई है। सिंपल पुलिस मुख्यालय में कार्यरत है। शिकायत में कहा गया कि छठे पीरियड में रिसेप्शन पर 2 युवक आए और उन्होंने सैकंड क्लास में पढ़ने वाली छात्रा का नाम बताकर साथ भेजने को कहा। इस पर वहां मौजूद मैडम ने एक कर्मचारी को कक्षा में भेजकर छात्रा को बैग सहित बुला लिया और उनके हवाले कर दिया। छात्रा युवकों को पहचानने से इंकार कर क्लास में चली गई। मगर क्लास टीचर ने दुबारा छात्रा को यह कहकर रिसेप्शन पर भेज दिया कि उसके अभिभावक लेने आए हैं। मालवीय नगर थाना प्रभारी अजय शर्मा का कहना है कि छात्रा की मां सिंपल की ओर से शिकायत दी गई है। जांच के लिए गुरुवार को स्कूल में जाएंगे और सीसीटीवी कैमरों की जांच करेंगे।

पर्ची भिजवाकर बच्ची को बुलाया

क्राइम रिपोर्टर| जयपुर

मालवीय नगर स्थित सेंट एंसलम स्कूल में मंगलवार को 2 युवक सैकंड क्लास में पढ़ रही छात्रा को लेने पहुंच गए। दोनों ने स्लीप पर बालिका का नाम लिखकर कक्षा में भिजवा दिया। इस पर क्लास टीचर ने छात्रा को रिसेप्शन पर भिजवा दिया। मगर बालिका ने दोनों युवकों को पहचानने से इंकार कर साथ जाने से मना कर दिया और मां से फोन पर बात कराने को कहा। तब दोनों युवक वहां से चले गए। घर जाकर बालिका ने परिजनों से पूछा कि आज किसको स्कूल लेने को भेजा था। तब मामले का पता चला। बालिका के परिजन अन्य अभिभावकों के साथ बुधवार सुबह स्कूल पहुंचे और प्रिंसिपल को लिखित शिकायत दी साथ ही दोनों युवकों के फुटेज दिखाने की मांग की। जिस पर प्रिंसिपल फादर एडवर्ड एलिवेरा ने गलती मानते हुए लिखित में माफी मांगी। परिजनों ने मालवीय नगर थाने में भी इस बारे में रिपोर्ट दी है। निजी बैंक में काम करने वाले मुकेश सिंह की बेटी एंसलम स्कूल में सैकंड कक्षा की छात्रा है। मालवीय नगर थाने में शिकायत छात्रा की मां सिंपल की ओर दी गई है। सिंपल पुलिस मुख्यालय में कार्यरत है। शिकायत में कहा गया कि छठे पीरियड में रिसेप्शन पर 2 युवक आए और उन्होंने सैकंड क्लास में पढ़ने वाली छात्रा का नाम बताकर साथ भेजने को कहा। इस पर वहां मौजूद मैडम ने एक कर्मचारी को कक्षा में भेजकर छात्रा को बैग सहित बुला लिया और उनके हवाले कर दिया। छात्रा युवकों को पहचानने से इंकार कर क्लास में चली गई। मगर क्लास टीचर ने दुबारा छात्रा को यह कहकर रिसेप्शन पर भेज दिया कि उसके अभिभावक लेने आए हैं। मालवीय नगर थाना प्रभारी अजय शर्मा का कहना है कि छात्रा की मां सिंपल की ओर से शिकायत दी गई है। जांच के लिए गुरुवार को स्कूल में जाएंगे और सीसीटीवी कैमरों की जांच करेंगे।

मासूम ने दिखाई समझदारी

छात्रा ने मां से बात कराने की बात कही। इस पर युवकों ने उसकी बात नहीं कराई तो छात्रा कक्षा में जाकर बैठ गई। क्लास टीचर को कहा कि जो लेने आए हैं, वह उनको नहीं जानती। तब तक दोनों युवक वहां से जा चुके थे।

आरोप : स्कूल प्रबंधन लापरवाह

थाने में दी शिकायत में आरोप लगाया गया कि स्कूल प्रबंधन, क्लास टीचर ने बिना जांच के ही छात्रा को अनजान के सुपुर्द कर दिया। जबकि उन्होंने जांच तक नहीं की कि छात्रा को लेने कौन आया है? शिकायत में लिखा है कि स्कूल टीचर ने बिना कारण जाने महज एक स्लीप के आधार पर स्कूल टाइम से पहले छात्रा को क्यों भेज दिया?

X
Click to listen..