--Advertisement--

युवक ने दुकान में लगा ली फांसी, सुसाइड नोट में लिखा-सॉरी पापा, बेईमान आदमी से की साझेदारी

रोडवेज बस स्टैंड के पास एक युवक ने फांसी लगा ली। उसकी जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है।

Dainik Bhaskar

Jun 13, 2018, 07:49 AM IST
Written in Suicide Note-sorry Papa

भरतपुर(राजस्थान)। सोमवार रात रोडवेज बस स्टैंड के पास एक युवक ने फांसी लगा ली। उसकी जेब से एक सुसाइड नोट भी मिला है। इसमें उसने दो साझीदार राजेश शर्मा और जगदीश प्रसाद पर आत्महत्या के लिए मजबूर करने का आरोप लगाया है। आक्रोशित लोगों ने भरतपुर-अलवर मार्ग पर शव को रखकर ढाई घंटे जाम रखा।

- पुलिस ने मृतक के शव को जबरन उठवाने की कोशिश की तो लोगों ने पुलिस पर पथराव किया।

- इस पर पुलिस ने भी लाठीचार्ज किया। बाद में अधिकारियों ने लोगों को समझा-बुझाकर जाम हटवाया।

- इस संबंध में मृतक के पिता परभाती लाल की शिकायत पर तीन लोगों के खिलाफ हत्या और दलित अत्याचार का मुकदमा दर्ज किया गया है।

आक्रोशित लोगों ने शव उतारकर किया हंगामा
- राजेश शर्मा के साथ साझे में ट्रैक्टर पार्ट्स और अन्य सामान की दुकान चलाता था।

- मंगलवार सुबह करीब साढ़े 6 बजे उसके पिता परभाती के पास साझेदार राजेश का फोन आया।

- उसने बताया कि दुकान की शटर में चाबी लगी रह गई है। जिस पर परभाती ने अपने छोटे बेटे सुरेश को दुकान पर भेजा।

- वहां उसे दुकान में बड़े भाई गिरधारी का शव रस्सी के सहारे लटका मिला।

- मौत की सूचना पर परिजनों ने दुकान पर पहुंच कर गिरधारी के शव को नीचे उतारा और घर ले गए।

- मोहल्ले के लोगों ने शव वापस लाकर दुकान में रख दिया। आक्रोशित लोगों ने पत्थर और बिजली के पोल लगा कर अलवर रोड को जाम कर दिया।

पुलिस ने लोगों पर किया लाठीचार्ज

- पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक की तलाशी ली तो उसके पास सुसाइड नोट मिला।

- मृतक के परिजनों का आरोप था कि गिरधारी की हत्या करके शव को लटकाया गया है।

- वे आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग भी करने लगे। बाद में डीग एएसपी महेश मीणा, एसडीएम राजवीर सिंह ने लोगों को समझाइश कर जाम खोलने को कहा।

- पुलिस की ओर से जबरन शव उठाने पर लोगों ने पथराव कर दिया। जिसमें भाजपा जिला उपाध्यक्ष प्रेम कपूर सिर में पत्थर लगने पर घायल हो गए।

- ऐसे में पुलिस ने लोगों पर लाठीचार्ज कर दिया। सुबह 8.35 पर लगा जाम ढाई घंटे बाद दोपहर करीब पौने 11 बजे हटा।


सुसाइड नोट: मारने की धमकी दे रहे थे आरोपी
- गिरधारी कोली ने अपने सुसाइड नोट में लिखा है कि राजेश शर्मा और जगदीश प्रसाद ने हालात ऐसे बना दिए हैं कि अब कोई रास्ता ही नहीं बचा है।

- राजेश बिजनेस पार्टनर है। उसने इतने गबन किए हैं कि दुकान का सही हिसाब- किताब नहीं हो रहा है। वे मेरे ऊपर ही आरोप लगा रहे हैं।

- जगदीश प्रसाद और उसका भाई जगराम मुझे और मेरे परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। उन्होंने पहले भी रोककर धमकी दी है।

- राजेश शर्मा ने कभी भी दुकान की बिक्री और सामान की खरीद का सही हिसाब-किताब नहीं दिया है। मैं दलित हूं।

- दलित होने की वजह से ये लोग मुझे सजा दे रहे हैं। पापा, आईएम सॉरी, जो आपने इस बेईमान आदमी के साथ साझेदारी की। मुझे माफ कर देना।

साढ़े पांच लाख का है विवाद
मृतक के पिता परभाती ने बताया कि उसके पुत्र गिरधारी और राजेश शर्मा के बीच साझेदारी में पैसों को लेकर विवाद था। साढ़े पांच लाख रुपए में उसका निपटारा भी हो गया था। ढाई लाख रुपए राजेश को दे दिए। तीन लाख कुछ दिनों बाद देने तय थे। लेकिन, राजेश हिसाब-किताब के बाद गिरधारी की तरफ 10 लाख रुपए निकलना बता रहा था। सोमवार को राजेश ने परभाती के साथ पुन: हिसाब कराया। जिसमें साढ़े पांच लाख रुपए ही निकलने की बात सामने आई। लेकिन, राजेश इससे संतुष्ट नहीं हुआ और ज्यादा पैसे निकलने की बात करने लगा। इसी बात को लेकर गिरधारी सोमवार की रात घर पर नहीं पहुंचा।



Written in Suicide Note-sorry Papa
X
Written in Suicide Note-sorry Papa
Written in Suicide Note-sorry Papa
Bhaskar Whatsapp
Click to listen..