--Advertisement--

मंदिर से आ रही वृद्धा समेत दो जनों को पागल घोड़े ने काटा

पुष्पेंद्र लवानिया की गर्दन। भास्कर संवाददाता|भरतपुर किला क्षेत्र में पागल घोड़े ने रविवार को कई लोगों को...

Dainik Bhaskar

Jun 11, 2018, 05:10 AM IST
मंदिर से आ रही वृद्धा समेत दो जनों को पागल घोड़े ने काटा
पुष्पेंद्र लवानिया की गर्दन।

भास्कर संवाददाता|भरतपुर

किला क्षेत्र में पागल घोड़े ने रविवार को कई लोगों को हमला कर घायल कर दिया। गोपालगढ़ निवासी 60 वर्षीय सुशीला देवी प|ी कामरेड नत्थी सिंह रविवार सुबह करीब 5 बजे बिहारी जी के दर्शन कर लौट रही थीं कि अचानक पीछे से आए पागल घोड़े ने उनके हाथ को अपने मुंह में भर लिया। इससे वे सड़क पर गिर पड़ी। राहगीरों ने उसे संभाला और उसके घर पहुंचाया। वहीं बरसानिया मोहल्ला निवासी 45 वर्षीय पुष्पेंद्र लवानिया रविवार सुबह 7 बजे दर्शन कर शहीद स्मारक की ओर से निकल रहे थे कि अचानक पीछे से घोड़े ने उनकी गर्दन को अपने मुंह में दबा लिया। बड़ी मुश्किल से राहगीरों ने घोड़े से छुटकारा दिलाया। व्यापारियों ने बताया कि यह घोड़ा कई दिनों से सड़क पर घूम रहा है। कई बार लोगों को टक्कर मार चुका है। पता ही नहीं है कि किसका है। मुंह से लोगों को काटने की घटना पहली बार हुई है। इससे खरीदारों के साथ ही हम में भी भय है। निगम को इस संबंध में कार्रवाई करनी चाहिए।

पशुपालन विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ. नगेश चौधरी का कहना है कि पालतु पशु रखने के लिए नगर निगम से स्वीकृति आवश्यक है। घोड़ा जरूर किसी न किसी का पालतू होगा, इसलिए उसको संभाल कर रखना घोड़े के मालिक की जिम्मेदारी है। वहीं दूसरे नंबर की जिम्मेदारी नगर निगम की है।

सुशीला देवी का हाथ।

मंदिर से आ रही वृद्धा समेत दो जनों को पागल घोड़े ने काटा
X
मंदिर से आ रही वृद्धा समेत दो जनों को पागल घोड़े ने काटा
मंदिर से आ रही वृद्धा समेत दो जनों को पागल घोड़े ने काटा
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..