Hindi News »Rajasthan »Nagar» आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल का एक्ट बने तो छह साल हो गए... लेकिन रजिस्ट्रेशन आज तक शुरू नहीं हो पाए

आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल का एक्ट बने तो छह साल हो गए... लेकिन रजिस्ट्रेशन आज तक शुरू नहीं हो पाए

सरकार की लापरवाही व लेटलतीफ के चलते राजस्थान विधानसभा में ‘आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल एक्ट’ पारित होने के छह साल...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 15, 2018, 05:15 AM IST

  • आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल का एक्ट बने तो छह साल हो गए... लेकिन रजिस्ट्रेशन आज तक शुरू नहीं हो पाए
    +1और स्लाइड देखें
    सरकार की लापरवाही व लेटलतीफ के चलते राजस्थान विधानसभा में ‘आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल एक्ट’ पारित होने के छह साल बाद भी 25 हजार आयुर्वेद, होम्यो, यूनानी (आयुष) नर्सेज को अब तक रजिस्ट्रेशन का इंतजार है। पिछली सरकार के समय वर्ष-2012 में आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल एक्ट विधानसभा से पारित हो गया था। नई सरकार के भी पांच साल पूरे होने को हैं, लेकिन अभी तक रजिस्ट्रेशन नहीं होने से सरकार की कार्यशैली फिर सवालों में है। रजिस्ट्रेशन नहीं होने से राज्य के बाहर व केन्द्र में सरकारी नौकरी का सपना संजोए रखने वाले आयुष नर्सेज दर-दर ठोकरें खाने को मजबूर हैं। सबसे चौंकाने वाली बात यह है कि वर्ष 2013 से आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल का ऑफिस खोलकर रजिस्ट्रार नियुक्त कर दिया गया, लेकिन अध्यक्ष व सदस्यों की नियुक्ति पिछले साल 2017 में हो पाई। इसके बाद भी अब तक पंजीकरण प्रक्रिया शुरू नहीं की जा सकी है। कारण बताया जा रहा है कि अभी इसके रूल्स और रेगुलेशन विधि-विभाग से अनुमोदित होकर नहीं आए हैं। काउंसिल की हालत यह है कि काउंसिल में कुर्सी-टेबल के लिए 10 लाख रुपए की मंजूरी की भी फाइल पांच माह से विभाग के अधिकारियों के चक्कर काट रही है।

    रियलिटीचैक

    भारतीय चिकित्सा पद्धतियों को लेकर सरकारी उपेक्षा का शिकार बने 25 हजार आयुर्वेद नर्सेज, रजिस्ट्रेशन नहीं होने से बाहरी राज्यों में स्वीकार नहीं हो रहे उनके नौकरी के आवेदन

    फायदा

    आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल के सदस्य हंसराज गुर्जर का कहना है कि रजिस्ट्रेशन होने से राज्य के बाहर आयुष नर्सेज को नौकरी मिलना आसान होगा। मौजूदा स्थिति में राजस्थान के आयुष नर्सेज का रजिस्ट्रेशन नहीं होने से अन्य राज्यों में इनका आवेदन स्वीकार नहीं किया जाता है। आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल को प्रभावी बनाया जाए तो आयुष नर्सेज को क्वालिटी से युक्त शिक्षण व प्रशिक्षण मिल सकेगा। काउंसिल के गठन का उद्देश्य ही प्रदेश में संचालित संस्थानों का निरीक्षण कर प्रशिक्षित व योग्य नर्सेज तैयार करना तथा समय-समय पर अपडेट करना है।

    कब-क्या

    2012 में आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल एक्ट पारित

    2013 से काउंसिल का रजिस्ट्रार नियुक्त

    अप्रैल-17 में काउंसिल में अध्यक्ष व सदस्य नियुक्त

    जुलाई -2017 में काउंसिल की प्रथम बैठक आयोजित

    खुद आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल की हालत दयनीय

    आयुर्वेद एवं भारतीय चिकित्सा विभाग ने 17 अप्रैल -2017 को राजस्थान आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल एक्ट -2012 की धारा 4 व 5 में अध्यक्ष व सदस्यों की नियुक्ति कर दी है। अध्यक्ष धर्मेंद्र फोगाट समेत पांच सदस्यों को लगाया है। नियमों में देरी के कारणों का पता किया जाएगा। -कालीचरण सराफ, चिकित्सा मंत्री

    राजस्थान आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल को जयपुर के प्रताप नगर स्थित आयुष भवन में कार्यालय के लिए कमरा नं. 315 मिला हुआ है। एक कमरे में चल रही काउंसिल में फर्नीचर तक पूरा नहीं है।

    नियमों की फाइल विधि विभाग में अटकी होने के कारण रजिस्ट्रेशन नहीं हो पा रहा है। पिछले साल राजस्थान आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल में अध्यक्ष व चार सदस्यों को नियुक्ति के बाद जल्द पंजीकरण हो सकेगा।

    -डॉ. जगवंत बेनीवाल, रजिस्ट्रार, राजस्थान आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल

    नियम तथा रैग्यूलेशन में देरी की वजह से आयुष नर्सेज के रजिस्ट्रेशन में दिक्कत हो रही है। जिसके कारण हमारे प्रदेश के आयुष नर्सेज को राज्य के बाहर नौकरी नहीं मिल पा रही है।

    -धर्मेंद्र फोगाट, अध्यक्ष, राजस्थान आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल

    मेडिकल की ये भी हैं काउंसिल

    राजस्थान मेडिकल काउंसिल (आरएमसी) : स्थापना 1952 : रजिस्टर्ड एलोपैथिक डॉक्टर 43 हजार 351

    इंडियन मेडिसन बोर्ड : स्थापना 1953 : रजिस्टर्ड वैद्य (बीएएमएस) 13 हजार

    राजस्थान नर्सिंग काउंसिल (आरएनसी) : स्थापना : 1964 : रजिस्टर्ड नर्सेज 1 लाख 25 हजार

    राजस्थान फार्मेसी काउंसिल (आरपीसी) : स्थापना : 1968 : रजिस्टर्ड (डिप्लोमा व डिग्रीधारी) फार्मासिस्ट 50 हजार 500

  • आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल का एक्ट बने तो छह साल हो गए... लेकिन रजिस्ट्रेशन आज तक शुरू नहीं हो पाए
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Nagar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: आयुर्वेद नर्सिंग काउंसिल का एक्ट बने तो छह साल हो गए... लेकिन रजिस्ट्रेशन आज तक शुरू नहीं हो पाए
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Nagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×