--Advertisement--

मेयर और कमिश्नर सहित अन्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं

भरतपुर। आवारा सांडों की चपेट में आकर हुई 5 वर्षीय कुणाल की मौत के मामले में पुलिस ने नगर निगम के सीएसआई संजय और...

Dainik Bhaskar

May 15, 2018, 05:15 AM IST
भरतपुर। आवारा सांडों की चपेट में आकर हुई 5 वर्षीय कुणाल की मौत के मामले में पुलिस ने नगर निगम के सीएसआई संजय और ठेकेदार अशोक जैन के खिलाफ तो गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। परंतु निगम के मेयर व कमिश्नर सहित अन्य के खिलाफ वकीलों ने उसी दिन दी गई रिपोर्ट को 4 दिन बाद भी दर्ज नहीं की है।

बार एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष जयनारायण व्यास समेत 5 वकीलों ने शुक्रवार को नगर निगम मेयर शिव सिंह भोंट और आयुक्त शिवचरण मीणा के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के लिए मथुरा गेट थाने में शिकायत दी थी। इन्होंने आरोप लगाया कि गोसंवर्धन के नाम पर आने वाली करोड़ों रुपए की हेराफेरी की गई है। जबकि नगर निगम का आश्रय स्थल खाली पड़ा है। आवारा गोवंश सड़कों पर खुले आम घूम रहा है। इसलिए सूरजपोल गेट मोहल्ला निवासी कुणाल की मौत के लिए मेयर शिव सिंह भोंट, आयुक्त शिवचरण मीणा, एलआई संजय सिंह सहित अन्य जिम्मेदार हैं।

इधर दूसरी ओर मृतक कुणाल के पोस्टमार्टम व पंचनामा कार्रवाई की जांच के बाद मथुरा गेट चौकी प्रभारी चूरामन ने उसी दिन एफआईआर दर्ज की गई थी। इसमें ठेकेदार अशोक जैन व सीएसआई संजय सहित अन्य निगम कर्मियों की लापरवाही से कुणाल की मृत्यु हुई। इस संबंध में जब मथुरागेट थाना एसएचओ राजेश पाठक ने बताया कि वकील रिपोर्ट लेकर आए थे परंतु वापस ले गए। वहीं दूसरी ओर अधिवक्ता व्यास ने बताया कि हम रिपोर्ट वापस नहीं लाए, उसे न दर्ज किया और न ही दूसरी दर्ज रिपोर्ट में शामिल किया है। सोमवार को एसपी को रिपोर्ट की प्रति भेज दी है और फिर इसके बाद कोर्ट में इस्तगासा पेश करेंगे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..