नागर

--Advertisement--

पत्नी के विरह में वकील ने फांसी लगाई

भरतपुर |जवाहर नगर कॉलोनी में रविवार रात्रि में वरिष्ठ अधिवक्ता रामकृपाल फांसी के फंदे पर झूल गए। अधिवक्ता के...

Dainik Bhaskar

Jun 12, 2018, 05:15 AM IST
भरतपुर |जवाहर नगर कॉलोनी में रविवार रात्रि में वरिष्ठ अधिवक्ता रामकृपाल फांसी के फंदे पर झूल गए। अधिवक्ता के सुसाइड नोट से पता चला है कि प|ी के विरह में तनाव के कारण घटना को अंजाम दिया।

करौली के केसरी सिंह का नगला निवासी अधिवक्ता रामकृपाल घर में अकेले रहते थे। करीब 5 साल पहले उनकी प|ी का निधन हो गया। बेटा अमेरिका में रहकर डॉक्टरी की पढ़ाई कर रहा है तो वहीं बेटी खुशबू जयपुर से बीटेक की पढाई कर रही है। रविवार रात अचानक उन्होंने अपने घर के कुंदे पर रस्सी का फंदा बनाकर फांसी पर झूल गए। रात करीब 10.30 बजे सूचना मिलने पर मथुरा गेट पुलिस मौके पर पहुंची और सोमवार को पोस्टमार्टम कराया। मर्ग की रिपोर्ट मृतक के साले गोपालगढ़ निवासी चेतन सिंह ने दर्ज कराई है। उनका अंतिम संस्कार काली की बगीची श्मशान में किया गया। मुखाग्नि बेटी ने दी। बार एसोसिएशन के अध्यक्ष ऋषिपाल तिवारी ने बताया शोक में अधिवक्ताओं ने अदालती कामकाज नहीं किया। मृतक अधिवक्ता की जेब से मिले सुसाइड नोट में लिखा है कि मेरी प|ी की आत्मा भटक रही है, मेरे उसके पास जाने से प|ी की आत्मा को शांति मिलेगी। इसलिए में यह सब कुछ अपनी इच्छा से कर रहा हूं। मुझे विश्वास है मेरे रिश्तेदार और साथी अधिवक्ता मेरे बच्चों को उनके मुकाम तक पहुंचाएंगे। बच्चों का पूरा ख्याल रखेंगे तथा जो कृत्य मैं कर रहा हूं उसके लिए क्षमा करेंगे।

अधिवक्ता रामकृपाल रविवार दोपहर अपनी बेटी को मोहल्ला गोपालगढ़ स्थित अपनी ससुराल में यह कहकर छोड़कर आए थे कि तुम यहां रहो जब तक मैं अपने कुछ काम निपटा के आता हूं।

X
Click to listen..