नागर

--Advertisement--

दुष्कर्मी भाई को 10 साल की सजा और 60 हजार जुर्माना

भरतपुर | अदालत ने अपहरण कर दुष्कर्म करने व जान लेवा हमले के मामले में एक आरोपी को 10 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई...

Dainik Bhaskar

May 15, 2018, 05:20 AM IST
भरतपुर | अदालत ने अपहरण कर दुष्कर्म करने व जान लेवा हमले के मामले में एक आरोपी को 10 साल के कठोर कारावास की सजा सुनाई है। साथ ही 60 हजार रुपए का अर्थदंड लगाया है।

एपीपी नरेश सैन के अनुसार पीड़िता ने 16 जनवरी 2013 को आरबीएम में सेवर थाना पुलिस को पर्चा बयान देकर मामला दर्ज कराया था। रिपोर्ट में बताया कि वह आनंद नगर में मां-बाप के साथ किराए पर रहती। उसके रिश्ते का भाई बंटी उसे घर से बुलाकर धौरमुई तिराहे के पास एक बाबा के पास लेकर गया था। उसे दो दिन बाबा ने अपने पास रखा था। 16 जनवरी 2013 की शाम 6 बजे कंजौली लाइन स्थित एक निजी अस्पताल के पास बस से लेकर आया। बंटी ने उसे नशीला पदार्थ खिलाकर उसके चाकू दिखाकर डराया और उसके साथ ज्यादती की। इस मामले में एडीजे महिला उत्पीड़न प्रकरण के न्यायाधीश संजय कुमार त्रिपाठी ने माना है कि आरोपी ने रिश्ते में भाई होते हुए भी पीड़िता को उसने सामाजिक संबंधों को तार-तार किया है।

X
Click to listen..