--Advertisement--

कर्ज में डूबी एअर इंडिया को नहीं मिला खरीदार

51 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के कर्ज में डूबी सरकारी एयरलाइंस एअर इंडिया काे कोई खरीदार नहीं मिला। सरकार ने एअर...

Danik Bhaskar | Jun 01, 2018, 05:30 AM IST
51 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के कर्ज में डूबी सरकारी एयरलाइंस एअर इंडिया काे कोई खरीदार नहीं मिला। सरकार ने एअर इंडिया के रणनीतिक विनिवेश के तहत 76% हिस्सेदारी बेचने के लिए अभिरुचि पत्र यानी एक्सप्रेशन ऑफ इंटरेस्ट मांगे थे। लेकिन 31 मई की डेडलाइन खत्म होने तक कोई खरीदार नहीं आया। नागरिक उड्डयन सचिव राजीव नयन चौबे ने बताया कि आगे की प्रक्रिया पर अंतिम फैसला मंत्री समूह करेगा। दो सप्ताह में मामला मंत्री समूह तक पहुंच सकता है। साथ ही विनिवेश प्रक्रिया के लिए नियुक्त सौदा सलाहकार ईवाई से भी बोली प्रक्रिया विफल रहने के कारणों की जानकारी मांगी जाएगी। उन्होंने कहा कि अगर मंत्री समूह दोबारा विनिवेश प्रक्रिया शुरू करने का फैसला करता है तो शर्तों के साथ विनिवेश की रणनीति में बदलाव का विकल्प भी खुला है। उल्लेखनीय है कि सरकार ने चालू वित्त वर्ष में 80 हजार करोड़ रुपए के विनिवेश का लक्ष्य रखा है। विनिवेश का पहला प्रयास विफल रहना इसके लिए झटका है। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने पिछले साल एअर इंडिया में रणनीतिक विनिवेश को सैद्धांतिक मंजूरी दी थी।