• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nagar News
  • बूढ़े मां-बाप को तंग किया तो 3 माह की जगह अब होगी 6 माह तक की जेल
--Advertisement--

बूढ़े मां-बाप को तंग किया तो 3 माह की जगह अब होगी 6 माह तक की जेल

बूढ़े माता-पिता को बेसहारा छोड़ने या तंग करने वालों को छह महीने तक जेल काटनी पड़ सकती है। अभी इसके लिए तीन महीने तक की...

Dainik Bhaskar

May 13, 2018, 05:35 AM IST
बूढ़े माता-पिता को बेसहारा छोड़ने या तंग करने वालों को छह महीने तक जेल काटनी पड़ सकती है। अभी इसके लिए तीन महीने तक की जेल का प्रावधान है।

एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार केंद्र सरकार वरिष्ठ नागरिकों की देखभाल और कल्याण से जुड़े साल 2007 के कानून को और सख्त बनाने जा रही है। सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय ने कानून की समीक्षा कर एक नया ड्राफ्ट तैयार किया है। इसे माता-पिता व वरिष्ठ नागरिकों की देखभाल और कल्याण कानून, 2018 का नाम दिया गया है।

मंजूरी मिलने के बाद यह 2007 के पुराने कानून की जगह लेगा। ड्राफ्ट में मासिक देखभाल भत्ते की 10 हजार रुपए की अधिकतम सीमा भी समाप्त कर दी गई है। अधिकारी ने बताया कि बच्चों की कमाई अच्छी-खासी है तो उनसे ज्यादा भत्ता भी लिया जा सकेगा। अगर बच्चे बूढ़े माता-पिता की देखभाल नहीं करते तो माता-पिता मेंटेनेंस ट्रिब्यूनल में केस दायर कर सकते हैं।

कानून की जद में दत्तक, सौतेले बच्चे व दामाद भी

मंत्रालय ने कानून के नए ड्राफ्ट में “बच्चों’ की परिभाषा का दायरा बढ़ाया है। अभी सिर्फ जैविक बच्चे और पोते-पोतियां ही इस कानून की जद में आते हैं। नई परिभाषा में दत्तक या सौतेले बच्चे, दामाद, बहू, पोते-पोतियां, नाती-नातिन भी शामिल की गई हैं। देखभाल की परिभाषा को रोटी, कपड़ा, मकान और स्वास्थ्य से आगे बढ़ाकर सुरक्षा भी इसमें जोड़ी गई है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..