Hindi News »Rajasthan »Nagar» दो माह से शोपीस बने 46 लाख के कंटेनर

दो माह से शोपीस बने 46 लाख के कंटेनर

भरतपुर| एक ओर शहर की सड़कों पर जगह-जगह कचरा प्वाइंट बने हैं, कचरा सड़कों पर फैल रहा है, जिससे आवागमन बाधित हो रहा है।...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 10, 2018, 05:40 AM IST

दो माह से शोपीस बने 46 लाख के कंटेनर
भरतपुर| एक ओर शहर की सड़कों पर जगह-जगह कचरा प्वाइंट बने हैं, कचरा सड़कों पर फैल रहा है, जिससे आवागमन बाधित हो रहा है। वहीं दूसरी ओर दो माह से नए 200 कंटेनर हीरादास रेन बसेरा पर रखे धूल चाट रहे हैं। लेकिन निगम उनको कचरा प्वाइंट पर रखने में उदासीनता बरते हुए है। बताते चलें कि दो माह पूर्व ही स्वायत्त शासन विभाग की ओर से 200 कंटेनर यानि कचरा पात्र भरतपुर नगर निगम को भेजे गए हैं। एक कंटेनर की कीमत करीब 23000 रुपए के हिसाब से ये कंटेनर 46 लाख रुपए की कीमत के हैं। जो दो महीने से कचरा प्वाइंट पर पहुंचने के इंतजार में हैं। बताते चलें कि नगर निगम क्षेत्र में 50 वार्ड हैं। जहां प्रत्येक वार्ड में करीब 10 स्थानों पर सड़क पर कचरा प्वाइंट बने हुए हैं, जहां कंटेनर रखने की विशेष आवश्यकता है। कंटेनर नहीं होने के कारण कचरा सड़कों पर फैलता है और आमजन को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस संबंध में नगर निगम के सीएसआई का कहना है कि जरूरत के हिसाब से वार्ड वाइज कंटेनरों को रखवाया जा रहा है। किसी भी काम काे करने में समय तो लगता ही है।

भरतपुर| एक ओर शहर की सड़कों पर जगह-जगह कचरा प्वाइंट बने हैं, कचरा सड़कों पर फैल रहा है, जिससे आवागमन बाधित हो रहा है। वहीं दूसरी ओर दो माह से नए 200 कंटेनर हीरादास रेन बसेरा पर रखे धूल चाट रहे हैं। लेकिन निगम उनको कचरा प्वाइंट पर रखने में उदासीनता बरते हुए है। बताते चलें कि दो माह पूर्व ही स्वायत्त शासन विभाग की ओर से 200 कंटेनर यानि कचरा पात्र भरतपुर नगर निगम को भेजे गए हैं। एक कंटेनर की कीमत करीब 23000 रुपए के हिसाब से ये कंटेनर 46 लाख रुपए की कीमत के हैं। जो दो महीने से कचरा प्वाइंट पर पहुंचने के इंतजार में हैं। बताते चलें कि नगर निगम क्षेत्र में 50 वार्ड हैं। जहां प्रत्येक वार्ड में करीब 10 स्थानों पर सड़क पर कचरा प्वाइंट बने हुए हैं, जहां कंटेनर रखने की विशेष आवश्यकता है। कंटेनर नहीं होने के कारण कचरा सड़कों पर फैलता है और आमजन को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस संबंध में नगर निगम के सीएसआई का कहना है कि जरूरत के हिसाब से वार्ड वाइज कंटेनरों को रखवाया जा रहा है। किसी भी काम काे करने में समय तो लगता ही है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Nagar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: दो माह से शोपीस बने 46 लाख के कंटेनर
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Nagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×