Hindi News »Rajasthan »Nagar» सेवादार विनायक को बना गए 200 करोड़ की संपत्ति का दावेदार

सेवादार विनायक को बना गए 200 करोड़ की संपत्ति का दावेदार

भास्कर न्यूज नेटवर्क| इंदौर आत्महत्या करने वाले संत भय्यू महाराज (उदय सिंह देशमुख) का बुधवार को अंतिम संस्कार कर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Jun 14, 2018, 05:45 AM IST

  • सेवादार विनायक को बना गए 200 करोड़ की संपत्ति का दावेदार
    +2और स्लाइड देखें
    भास्कर न्यूज नेटवर्क| इंदौर

    आत्महत्या करने वाले संत भय्यू महाराज (उदय सिंह देशमुख) का बुधवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। इंदौर के विजयनगर स्थित मुक्तिधाम में उनकी बेटी कुहू ने उन्हें मुखाग्नि दी। उनकी प|ी डॉ. आयुषी और मां आश्रम में ही रहीं। उधर, महाराज ने अपने सुसाइड नोट में सेवादार विनायक को अपना उत्तराधिकारी बताया है। हालांकि, यह निर्णय ट्रस्ट करेगा।

    भय्यू महाराज के श्री सद्गुरु दत्त धार्मिक एवं पारमार्थिक ट्रस्ट की देशभर में 200 करोड़ रुपए से ज्यादा की संपत्ति है। अगर सेवादार विनायक को उत्तराधिकारी बनाया जाता है तो वह 200 करोड़ की संपत्ति का मालिक हो जाएगा। भय्यू महाराज के महाराष्ट्र में 20 से ज्यादा केंद्र हैं। वहीं इंदौर में सुखलिया स्थित सर्वोदय आश्रम सहित महाराज के दो घर हैं। 10 से ज्यादा लक्जरी गाड़ियां हैं। बता दें कि भय्यू महाराज ने मंगलवार को अपने घर में खुद को गोली मारकर आत्महत्या कर ली थी। शेष | पेज 2

    भय्यू महाराज

    एक ही कार से आईं प|ी आयुषी और बेटी कुहू, पर एक-दूसरे को देखा तक नहीं

    भय्यू महाराज के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार से पहले सुबह साढ़े नौ बजे सुखलिया के सूर्योदय आश्रम लाया गया। यहां उनकी दूसरी प|ी डॉ. आयुषी और पहली प|ी माधवी से हुई बेटी कुहू एक ही कार से आईं। पूरे रास्ते दोनों ने एक-दूसरे की तरफ देखा तक नहीं। पार्थिव शरीर के पास मां, बेटी कुहू और प|ी आयुषी थीं, लेकिन कुहू व आयुषी ने एक-दूसरे को नजरअंदाज किया। कुहू ने आयुषी को घटना का जिम्मेदार बताया था।

    21 साल पहले दर्शन करने आया था सेवादार विनायक, फिर महाराज का करीबी बन गया

    1996 यानी, 21 साल पहले विनायक सूर्योदय आश्रम में भय्यू महाराज के दर्शन करने आम आदमी की तरह आया था। वह महाराज से इतना प्रभावित हुआ कि आश्रम का नियमित सेवादार बन गया। कुछ सालों में वह महाराज का इतना करीबी हो गया कि महाराज किससे बात करेंगे और कौन उनसे मिलेगा, यह विनायक ही तय करता था। उनके घर का पूरा मैनेजमेंट विनायक ने ही संभाल रखा था।

  • सेवादार विनायक को बना गए 200 करोड़ की संपत्ति का दावेदार
    +2और स्लाइड देखें
  • सेवादार विनायक को बना गए 200 करोड़ की संपत्ति का दावेदार
    +2और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×