Hindi News »Rajasthan »Nagar» रोगों से बचाव के लिए शहद का नियमित सेवन करें: त्रिपाठी

रोगों से बचाव के लिए शहद का नियमित सेवन करें: त्रिपाठी

विकास अधिकारी खादी ग्रामोद्योग आयोग जयपुर नंदलाल त्रिपाठी ने मधुमक्खी के शहद का नियमित सेवन करने से तपेदिक,...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 22, 2018, 05:45 AM IST

विकास अधिकारी खादी ग्रामोद्योग आयोग जयपुर नंदलाल त्रिपाठी ने मधुमक्खी के शहद का नियमित सेवन करने से तपेदिक, अस्थमा, कब्ज, खून की कमी व रक्तचाप आदि रोगों से बचाव करने की बात कही है।

डीग चुंगी स्थित लोक सेवा समिति पर विश्व मधुमक्खी दिवस के तहत मधुमक्खी पालन के संरक्षण व संवर्धन कार्यशाला में विकास अधिकारी नंदलाल त्रिपाठी ने उपस्थित लोगों को मधुमक्खी पालन को एक कृषि आधारित उद्योग व स्वरोजगार का उत्तम साधन बताया। उन्होंने शहद के सेवन से टयूमर व प्रोस्टेटाइटिस का खतरा कम होने, स्मरण शक्ति व आयु में वृद्वि, एवं बी-थैरेपी, गठिया व कैंसर आदि असाध्य रोगों से छुटकारा पाने की बात कही।

कार्यशाला के दौरान वाद-विवाद व चित्रकला प्रतियोगिता आयोजित की गई। जिसमें चित्रकला में खुशी मित्तल ने प्रथम, कोमल सोनी द्वितीय व काजल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। जबकि वाद-विवाद में रश्मि कौशिक को प्रथम, प्रिया द्वितीय व लवली सक्सैना को तृतीय विजेता घोषित कर अतिथियों द्वारा पुरस्कार स्वरूप शहद वितरण किया गया। शहद से होने वाले फायदों के बारे में कार्यक्रम के दौरान मौजूद लोगाें ने विस्तार से जानकारी देते हुए इसका उपयोग करने पर जोर दिया।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि कर्नल हरिसिंह, विशिष्ट अतिथि कैप्टन बच्चूलाल, ऋषिराम पाराशर, ओमप्रकाश चौधरी व पूर्व शिक्षाविद कैलाशचंद पालीवाल थे। अंत में मंत्री राजेन्द्र प्रसाद एग्रो ने सभी का आभार जताया। इस अवसर पर रामचरण गिरदावर, पूर्व पार्षद ओमप्रकाश शर्मा, अजय लवानिया, कृष्णमुरारी शर्मा, गिरधारी पाठक, लालाराम गुर्जर, हरेन्द्र शर्मा, मधु शर्मा, कुमकुम शर्मा, प्रहलाद प्रसाद, रमेश चन्द आदि मौजूद थे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Nagar News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: रोगों से बचाव के लिए शहद का नियमित सेवन करें: त्रिपाठी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Nagar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×