नागर

--Advertisement--

ये अनमोल है, यूं व्यर्थ न बहने दें

भरतपुर । मुखर्जी नगर चोराहे पर सेक्टर तीन के पास पीने की पाइप लाइन फटने से हजारों लीटर पानी बहा। यह पाइप लाइन करीब...

Dainik Bhaskar

May 17, 2018, 05:50 AM IST
ये अनमोल है, यूं व्यर्थ न बहने दें
भरतपुर । मुखर्जी नगर चोराहे पर सेक्टर तीन के पास पीने की पाइप लाइन फटने से हजारों लीटर पानी बहा। यह पाइप लाइन करीब एक हफ्ते से क्षतिग्रस्त है।

पानी बचाने के संकल्प के साथ भास्कर जल मित्र अभियान की हुई शुरुआत

भास्कर संवाददाता|भरतपुर

हमें अगर कल सुनहरा देखना है तो आज ही पानी बचाना होगा। आज बचाया हुआ पानी हमारे बच्चों के लिए कल काम आएगा। इस संदेश के साथ दैनिक भास्कर ने शहर में पानी बचाने की मुहिम शुरू की है। भास्कर ने शहर में जलमित्र बनाए हैं। इन जल मित्रों की बुधवार को भास्कर कार्यालय में बैठक हुई, जिसमें पानी बचाने व लोगों को जागरुक करने पर चर्चा की गई। जल मित्रों ने कहा कि शहर में व्यर्थ बह रहे पानी को रोकने की कोशिश की जाएगी। लोगों को समझाएंगे कि पानी की ज्यादा से ज्यादा बचत करेंगे। वक्ताओं ने कहा कि पानी बनाया नहीं जा सकता, बल्कि बचाया ही जा सकता है। प्रदेश में ही कई जिले ऐसे हैं, जहां पानी की काफी कमी हो गई है। महिलाएं कई किलोमीटर दूर से पानी भर कर ला रही हैं। कई गांवों में तो पानी के साधनों पर पहरेदारी लगानी पड़ती है। भरतपुर में पीने का पानी 125 किलोमीटर दूर धौलपुर जिले में बहने वाली चंबल नदी से जरिए पाइप लाइन के लाया जा रहा है। जलदाय विभाग के आंकड़े बताते हैं कि 30 फीसदी पानी व्यर्थ बह रहा है। ऐसे में भास्कर का जलमित्र बनाने और पानी बचाने की मुहिम जरूरी है। वे इस अभियान में पूरी सक्रियता निभाएंगे और जलदाय विभाग को भी पाबंद करेंगे कि वे लीकेज रोकें। पानी की बर्बादी कम से कम हो। कार्यक्रम में जलमित्र पूर्व पार्षद मनोज शर्मा, नई मंडी व्यापार संघ के सचिव भूपेंद्र गोयल, सतीश सोगरवाल, छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष योगेंद्र टोंटपुर, पूर्व महासचिव भानुप्रताप जघीना, विपेंद्रसिंह, चंद्रजीतसिंह, पवनसिंह, गुलाबसिंह, नरेश लवानिया आदि ने विचार रखे।

ये अनमोल है, यूं व्यर्थ न बहने दें
X
ये अनमोल है, यूं व्यर्थ न बहने दें
ये अनमोल है, यूं व्यर्थ न बहने दें
Click to listen..