• Home
  • Rajasthan News
  • Nagar News
  • 3 साल की बच्ची से दुष्कर्म; थानाधिकारी को बेटी का पत्र- ऐसे सबूत जुटाओ कि गलत काम करने वाले को फांसी ही हो
--Advertisement--

3 साल की बच्ची से दुष्कर्म; थानाधिकारी को बेटी का पत्र- ऐसे सबूत जुटाओ कि गलत काम करने वाले को फांसी ही हो

पवन तिवाड़ी/परमगीत शर्मा | श्रीगंगानगर श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय से 150 किमी. दूर घड़साना शहर। पिछले सप्ताह यहां...

Danik Bhaskar | May 08, 2018, 06:00 AM IST
पवन तिवाड़ी/परमगीत शर्मा | श्रीगंगानगर

श्रीगंगानगर जिला मुख्यालय से 150 किमी. दूर घड़साना शहर। पिछले सप्ताह यहां महज 3 साल की मासूम से ज्यादती हुई। हालांकि आरोपी बुधाराम (उम्र 21 साल) को गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी को कोर्ट से जल्द फांसी की सजा दिलाने की मांग हो रही है। इसी बीच एक बड़ी पहल घड़साना के थानाधिकारी विक्रम चौहान की प|ी मधु व बेटी निधिका ने की है। इस तरह की घटनाओं से व्यथित निधिका ने अपने थानाधिकारी पापा को चिट्‌ठी लिखी है। उसने लिखा है कि ‘पापा ऐसे सबूत जुटाओ कि गलत काम करने वाले को फांसी ही हो। वहीं प|ी ने थानाधिकारी को संकल्प दिलवाया है कि सबूत जुटाने के लिए भले ही जेब से रुपए लग जाएं। कितने ही रविवार घर नहीं आना पड़े, मत आइए। आप बस मामले के एक-एक बिंदु की जांच-पड़ताल कर सबूत खोजिए। लेकिन आरोपी को फांसी ही होनी चाहिए। मधु अध्यापिका हैं, जबकि निधिका 12वीं की छात्रा है।

श्रीगंगानगर में आरोपी को फांसी दिलाने के लिए पुलिसकर्मी को प|ी व बेटी ने दिलाया संकल्प

मम्मी डर की वजह से मुझे कभी दूर नहीं करती: निधिका

प्रिय पापा,

आपके थाना क्षेत्र घड़साना में पिछले बुधवार तीन साल की बच्ची से दुष्कर्म हुआ। मैंने सुना था कि जम्मू के कठुआ में भी 8 साल की बच्ची से दुष्कर्म हुआ है। इसके बाद से मम्मी कुछ डरी हुई हैं। डर की वजह यह भी है कि मैं यहां श्रीगंगानगर में उनके साथ अकेली रहती हूं और आप हमसे दूर रहकर वहां ड्यूटी करते हैं। मम्मी अब मुझे अपनी आंखों से ज्यादा देर दूर नहीं करतीं। कहीं जाती हूं तो मुझसे खूब सवाल करती हैं। पापा, मेरे मन में एक सवाल है कि ये लोग आखिर ऐसा गलत काम करते क्यों हैं? इन सबका आखिर समाधान क्या है और इन लोगों की गलती की सजा मेरी जैसी हजारों-लाखों बेटियां क्यों भुगतें? पापा, आज मैं आपसे कहना चाहती हूं कि आपके क्षेत्र में तीन साल की बच्ची से जो गलत काम हुआ है, उस आरोपी को कोर्ट से फांसी ही होनी चाहिए। इसके लिए आप हर सबूत जुटाना। मैं वादा करती हूं, आप इसमें सफल रहे तो मैं आपका हर कहा मानूंगी। आपकी कोई बात नहीं टालूंगी और न ही किसी बात की जिद करूंगी। आप एक ही बात मन में रखना, आरोपी काे फांसी। -आपकी बेटी निधिका

पापा विक्रम सिंह के साथ निधिका।