• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nagar News
  • झारखंड से जोधपुर भेजी जा रही 100 किलो अफीम पकड़ी, 3 गिरफ्तार
--Advertisement--

झारखंड से जोधपुर भेजी जा रही 100 किलो अफीम पकड़ी, 3 गिरफ्तार

अफीम की मार्केट वैल्यू करीब तीन करोड़ रुपए जयपुर | झारखंड से बोलेरो में अफीम भरकर जोधपुर ले जा रहे तीन तस्करों को...

Dainik Bhaskar

May 21, 2018, 06:00 AM IST
अफीम की मार्केट वैल्यू करीब तीन करोड़ रुपए

जयपुर | झारखंड से बोलेरो में अफीम भरकर जोधपुर ले जा रहे तीन तस्करों को बगरू थाना पुलिस ने शनिवार देर रात को नाकाबंदी के दौरान ठीकरिया टोल प्लाजा के पास पकड़ लिया। बोलेरो की तलाशी में तीन कट्टों में भरी सौ किलो अफीम मिली, जिसे पुलिस ने जब्त कर तीनों तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की प्रारंभिक जांच में सामने आया है कि अफीम जोधपुर के आसपास इलाकों में छोटे तस्करों को सप्लाई की जाती थी। छोटे तस्कर कॉलेजों के आसपास चाय की दुकानों के आसपास बनाए गए ठिकानों पर सप्लाई करते थे। जब्त अफीम की बाजार कीमत करीब 2 करोड़ रु. है। प्रारंभिक जांच में झारखंड से राजस्थान में अफीम सप्लाई करने वाले बड़े तस्करों के शामिल होने की बात सामने आई है। डीसीपी अशोक गुप्ता ने बताया कि गिरफ्तार तस्कर बाबूलाल विश्नोई (32) व राकेश विश्नोई (22) पाली में रोहट के पास स्थित भांकरी के व तीसरा तस्कर भागीरथ विश्नोई (42) जोधपुर में लूणी के विष्णु नगर का रहने वाला है। बदमाश अफीम से भरे 3 बैग व एक कट़्टा बोलेरो के पीछे के हिस्से में भरकर इन पर टायर रखकर आ रहे थे।

कांस्टेबल चन्द्रभान की सजगता से मिली कामयाबी : चन्द्रभान ने बताया कि दो माह पहले एक मुखबिर से बताया कि इस रोड पर इन दिनों मारवाड़ के तस्करों को लगातार मूवमेंट हो रहा है। उक्त सूचना के बाद वह लगातार रोड किनारे बने मारवाड़ी ढाबे और होटलों पर बैठने लगा। इस बीच ये तस्कर एक खेप झारखंड से जोधपुर सप्लाई कर चुके थे। उसके बाद शुक्रवार शाम को सूचना मिली कि झारखंड के चतरा से गाड़ी रवाना हो गई है। आई तो तैनात पुलिसकर्मियों से चोरों तरफ से घेरकर पकड़ लिया।

कई खेप सप्लाई की, पहली बार पकड़े गए

पूछताछ में तीनों तस्करों ने बताया कि वे कई बार झारखंड से जयपुर होते हुए जोधपुर अफीम की बड़ी खेप पहुंचा चुके। मगर पकड़ में नहीं आए। जब पुलिस की सख्ती होती है तो एस्कॉर्ट के लिए आगे गाड़ी चलती है। जो सारी स्थिति बता देती है। इस बार एस्कॉर्ट नहीं थी। नाकाबंदी की सूचना मिलते ही रास्ता बदल देते थे। पूछताछ में तस्करों ने बताया कि अफीम झारखंड के चतरा जिले में एक ही व्यक्ति से खरीदी है।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..