• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nagar News
  • प्रकृति को मैनेज करें, उसे जीवन से हटाना हमारे लिए खतरनाक
--Advertisement--

प्रकृति को मैनेज करें, उसे जीवन से हटाना हमारे लिए खतरनाक

तेरह-चौदह मई को आए घातक अांधी-तूफान के दौरान पांच राज्यों में 80 लोगों की मौत होने और कई पेड़ों के धराशायी होने के बाद...

Dainik Bhaskar

May 21, 2018, 06:00 AM IST
प्रकृति को मैनेज करें, उसे जीवन से हटाना हमारे लिए खतरनाक
तेरह-चौदह मई को आए घातक अांधी-तूफान के दौरान पांच राज्यों में 80 लोगों की मौत होने और कई पेड़ों के धराशायी होने के बाद मौसम विभाग के अधिकारियों ने इस रविवार को गरज के साथ तूफान आने का अनुमान व्यक्त किया पर जयपुर के मालवीय नगर की 28 वर्षीय नीना वर्मा एक माह से 25 साल पुराने नीम के वृक्ष को बचाने के लिए भाग-दौड़ कर रही हैं, जिसे उन्होंने 1993 में तीन साल की उम्र में लगाया था। उनके लिए वह पेड़ उनका दोस्त है। 21 मई को स्थानीय स्वशासन के लोगों ने उस पेड़ को काटने का फैसला लिया, क्योंकि यह उनकी ‘स्लैंड पॉलिसी ऑफ 90 डिग्री’ के अनुरूप नहीं था!’ आप सोच रहे होंगे कि यह क्या है?

उनके मुताबिक किसी पेड़ को 90 डिग्री से अधिक नहीं झुका होना चाहिए अन्यथा इसे खतरनाक घोषित कर दिया जाता है। आश्चर्य की बात है कि शहर के कई लैम्प पोस्ट और कई किलोमीटर के रोड डिवाइडर उस पेड़ की तुलना में अधिक झुके हुए हैं और मोटर वाहन यात्रियों और सड़क पर पैदल चलने वालों की मृत्यु का कारण बने हैं। जबकि उन्हें यह पेड़ खतरनाक लगता है!

पेड़ काटने के फैसले की शुरुआत 30 अप्रैल 2018 को हुई, जब मकान नंबर बी-518 के बाहर आंधी ने इसकी एक बड़ी शाखा पर प्रहार किया और बिजली की आपूर्ति बंद हो गई। जल्दी ही रास्ता साफ कर बिजली बहाल कर दी गई पर उसके बाद से अधिकारी पेड़ काटने पर तुले हुए हैं, जिसे नीना रोकने का प्रयास कर रही हैं।

मालवीय नगर के ज्यादातर रहवासी हरियाली को प्रेम करते हैं। यह अनोखी ग्रीन कॉलोनी है, जहां 27 नक्षत्रों के नाम पर 27 पेड़, 24 तीर्थंकरों के नाम पर 24 पेड़, 12 राशियों के नाम पर 12 पेड़, नवग्रह वाले नौ पेड़, आठ दिशाओं पर आठ पेड़ और ‘वास्तु शास्त्र’ दर्शाने वाले आठ अन्य पेड़ हैं। चूंकि उनका मानना है कि परिपक्व पेड़ न सिर्फ शहरों को 2 से आठ डिग्री तक ठंडा करते है बल्कि साफ हवा देते हैं, तनाव कम करके प्रसन्नता बढ़ाते हैं, बाढ़ का जोखिम कम करते हैं और यहां तक कि पालिका के पैसे भी बचाते हैं, इसलिए वे ग्रीन लिविंग अपना रहे हैं।

टोरंटो में मनोविज्ञान के प्रोफेसर मार्क बर्मन द्वारा किया पेड़ों के मनोविज्ञान का अध्ययन कहता है कि बहुत सारे वृक्ष हो तो आपमें सात साल छोटे होने का अहसास जागता है अौर एक व्यक्ति के जीवन काल में स्वास्थ्य संबंधी व्यक्तिगत खर्च 15 हजार डॉलर (10 लाख रुपए से ज्यादा) कम हो जाता है। संयुक्त राष्ट्र के अर्बन फॉरेस्ट्री ऑफिस के मुताबिक इमारतों के निकट लगाए जाने पर पेड़ एयरकंडिशनिंग के उपयोग को 30 फीसदी घटा देते हैं। एक बड़ा पेड़ साल में 150 किलो कॉर्बन डाईऑक्साइड सोख लेता है। इसके साथ वह हवा में मौजूद धूल के बारीक कणों सहित प्रदूषक तत्वों को भी फिल्टर कर देते हैं। कई प्रयोगों के बाद ये सारे निष्कर्ष स्थापित सत्य हो गए हैं।

इसकी लागत का पता लगाना मुश्किल है कि पेड़ों की कतार कैसे मुख्य सड़क के शोर को रोक लेती है। भारी यातायात वाली सड़क के किनारे पेड़ों से भरी जगह पर इतनी शांति रहती है कि लगता नहीं कि मकान शहर के मध्य में है। शहर में पेड़ों पर ग्लास्गो यूनिवर्सिटी के लोक स्वास्थ्य के प्रोफेसर रिच मिचल ने 2008 में शायद सबसे चौंकाने वाला अध्ययन किया था। उन्होंने बताया था कि पेड़ सेहत संबंधी सारी खामियों को पूरी तरह दूर कर देते हैं। लाखों पेड़ गंवाने वाले क्षेत्र में कराए एक अन्य अध्ययन में पता चला कि वहां मानव मृत्यु दर बढ़ गई। एक और अध्ययन के मुताबिक जिन गर्भवती महिलाओं के मकान के 50 मीटर के भीतर अधिक पेड़ होते हैं, उन्हें कम वजन के बच्चे पैदा होने की आशंका बहुत घट जाती है।

यह जानना दिलचस्प होगा कि न्यूयॉर्क सिटी पार्क डिपार्टमेंट ने अपने पेड़ों के आर्थिक असर का आकलन किया और पाया कि ये पेड़ साल में 12 करोड़ डॉलर (8.15 अरब रुपए से ज्यादा) का फायदा देते हैं। उसने यह भी कहा कि औसतन पेड़ अपने जीवनकाल में किसी प्रॉपर्टी की कीमत 20 फीसदी बढ़ा देते हैं। अध्ययन में कहा गया, ‘शायद, वाकई पेड़ों पर पैसे उगते हैं।’ संक्षेप में मालवीय नगर के पेड़ जैसा बड़ा परिपक्व पेड़ एक साल में 1,432 गैलन (करीब 5 हजार लीटर) पानी रोक सकता है।

फंडा यह है कि  प्रकृति के साथ तालमेल जमाने की जरूत है, उसे छोटे-मोटे कारणों से हमारी ज़िंदगी से हटाने की आवश्यकता नहीं है, जो अंतत: व्यापक मानवता के लिए खतरनाक होगा।

एन. रघुरामन

मैनेजमेंट गुरु

raghu@dbcorp.in

X
प्रकृति को मैनेज करें, उसे जीवन से हटाना हमारे लिए खतरनाक
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..