--Advertisement--

नागीणा में रंगोत्सव

नागौर को प्राचीन काल में नागीणा के नाम से ही जाना जाता था। भाैगोलिक दृष्टि से जिला बड़ा है तो यहां होली के रंग भी...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:00 AM IST
नागौर को प्राचीन काल में नागीणा के नाम से ही जाना जाता था। भाैगोलिक दृष्टि से जिला बड़ा है तो यहां होली के रंग भी अनूठी परंपराओं में रंगे हैं। गोटन में चंदन के पाउडर से होली खेली जा रही है। नागौर में फक्कड़ होली पर्व से पहले महाशिवरात्रि व आंवला एकादशी को निकालता है। अनूठा संगम देखने भी लोग आते हैं। शहर में डांडिया आयोजन भी प्रसिद्ध हैं।

होली पर गाए जाने वाले प्रमुख भजन












फोटो : सुनीलदत्त बोहरा
डांडिया के उत्सव गळी-गळी गैर

शहर के... लोढ़ा का चौक में पुष्करणा समाज द्वारा होली के दिन डांडिया महोत्सव व धुलंडी के दिन समाज गैर व झगड़ा गैर का आयोजन पारंपरिक रूप से होता है। इसमें युवक विभिन्न वेशभूषा धारण करके पहुंचते हैं।

झगड़ा गैर

फोटो प्रतिकात्मक