• Home
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • टीबी रोगियों का मेडिकल स्टोर संचालकों को रखना होगा रिकॉर्ड, सरकार हर माह रोगी को देगी Rs. 500
--Advertisement--

टीबी रोगियों का मेडिकल स्टोर संचालकों को रखना होगा रिकॉर्ड, सरकार हर माह रोगी को देगी Rs. 500

जिले में क्षय रोग निवारण केन्द्र ही नहीं अब मेडिकल स्टोर संचालकों और निजी चिकित्सकों को भी उनके यहां आने वाले टीबी...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 05:45 AM IST
जिले में क्षय रोग निवारण केन्द्र ही नहीं अब मेडिकल स्टोर संचालकों और निजी चिकित्सकों को भी उनके यहां आने वाले टीबी रोगियों का पूरा रिकॉर्ड रखना होगा। मिशन 2025 टीबी मुक्त भारत के तहत केन्द्र सरकार ने 16 मार्च को अधिसूचना जारी कर यह प्रावधान कर दिया है। नोटिफिकेशन में टीबी के हर रोगी का रिकॉर्ड रखना अनिवार्य कर दिया गया है।

जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. श्रवण राव ने बताया कि निजी चिकित्सकों को अपने यहां आने वाले हर मरीज का नाम, पता और आधार कार्ड की कॉपी लेनी होगी। और हर माह इस रिकॉर्ड को क्षय रोग विभाग को भिजवाएंगे। इसके अलावा मेडिकल स्टोर से रोगी दवा ले रहा है तो उसके संचालक को भी मरीज का रिकॉर्ड रखना पड़ेगा। उसे हर माह उसकी रिपोर्ट सहायक औषधि नियंत्रक को भिजवानी पड़ेगी। वहां से रिपोर्ट क्षय रोग अधिकारी को जाएगी। इसको लेकर क्षय रोग विभाग ने फार्मासिस्ट को नए नियमों की जानकारी भी दे दी है। अधिसूचना के मुताबिक अगर कोई निजी चिकित्सक व मेडिकल स्टोर संचालक आदेशों की पालना नहीं करता है तो प्रावधानों का उल्लंघन करने कर संबंधित अधिकारी कानूनी एक्शन भी ले सकेंगे। दोषी पाए जाने पर 6 माह से 2 साल तक की सजा का प्रावधान किया गया है। क्षय रोगी को सप्ताह में जहां तीन दिन डॉट्स की टेबलेट दी जाती थी वहां अब रोज टेबलेट दी जाएगी।