• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • गेनाराम की बेटी का सुसाइड नोट आया सामने, लिखा : हमने चोरी की ही नहीं, आरोप कैसे बर्दाश्त
--Advertisement--

गेनाराम की बेटी का सुसाइड नोट आया सामने, लिखा : हमने चोरी की ही नहीं, आरोप कैसे बर्दाश्त

बाघरासर में कांस्टेबल गेनाराम व परिवार के आत्महत्या करने के प्रकरण में लोगों ने कलेक्टर और एसपी कार्यालय के...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:05 AM IST
गेनाराम की बेटी का सुसाइड नोट आया सामने, लिखा : हमने चोरी की ही नहीं, आरोप कैसे बर्दाश्त
बाघरासर में कांस्टेबल गेनाराम व परिवार के आत्महत्या करने के प्रकरण में लोगों ने कलेक्टर और एसपी कार्यालय के सामने प्रदर्शन किया। इस दौरान लोगों ने नारेबाजी की। गिरफ्तारी की मांग और कार्रवाई को लेकर किए गए इस प्रदर्शन के बाद नेहरु पार्क में सभा का भी आयोजन किया गया। इधर मामले में नया मोड़ आ गया है।

परिजनों की ओर से गैनाराम की बेटी का लिखा सुसाइड नोट भी सार्वजनिक किया है। यह नोट पुत्री की डायरी में मिला है। जाे अब सामने आया है। नोट में लिखा है कि राधाकिशन परिवार के सदस्य की तरह थे। लेकिन उन्होंने हमारी जमीन हड़प ली और ढाई लाख रुपए भी ले लिए। सात साल तक मानसिक यातनाएं दी। जब परिवार ने चोरी की ही नहीं तो हम यह ब्लेम कैसे बर्दाश्त कर सकते थे। वह भी 5-6 लाख रुपए के जेवर की। गैनाराम की पुत्री ने लिखा है कि वह आरोप लगाकर हमदर्दी चाहता है। राधाकिशन आदि ने अफसरों की आंखों में धूल डाली है। परेशान किया गया इसी के चलते मजबूरी में हमें आत्महत्या का फैसला लेना पड़ा। मेरा सपना था कि विश्व स्तरीय इंजीनियर बनूं। सैलेरी समाज में खर्च हो। सभी को सस्ते घर बनाकर दूं। गैनाराम की पुत्री ने न्याय की मांग की है। हालांकि इस सुसाइड नोट काे लेकर मामले की जांच कर रहे सीओ दिनेशसिंह ने कहा है कि परिवार यह नोट पेश करें। जांच की जाएगी। हो सकता है गैनाराम की पुत्री को डायरी लिखने की आदत हो। अभी तक परिवार की ओर से ज्ञापन के साथ सुसाइड नोट की प्रतिलिपी मिली है। मूल कॉपी नहीं। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।

रैली के रूप में कलेक्ट्रेट पहुंचे, की नारेबाजी

इधर रैली के रूप में कलेक्ट्रेट कार्यालय पहुंचे लोगों ने पहले कलेक्टर को ज्ञापन दिया। इसके बाद एसपी कार्यालय जाकर गेट पर नारेबाजी की। प्रतिनिधिमंडल ने एसपी को ज्ञापन दिया। ज्ञापन में बताया गया है कि आरोपियों को गिरफ्तार किया जाए। ज्ञापन में 7 फरवरी तक गिरफ्तारी नहीं होने पर 8 फरवरी से धरना-प्रदर्शन के अलावा उग्र आंदोलन की चेतावनी दी गई है। शहर के नेहरू पार्क में आरक्षित वर्ग के अलावा सर्व समाज की ओर से आयोजित हुई। ज्ञापन में नागौर के वृत्ताधिकारी ओमप्रकाश गौतम को तत्काल निलंबित करने की मांग भी उठाई गई है। आमसभा में भजनसिंह, पार्षद पप्पूराम,आरएएस नारायणराम इंदालिया, राजकुमार, पृथ्वीसिंह खटोड़ा, अक्षयकुमार, सीआर चौयल, रोड़ाराम रावल, अनिल, झिंजाराम, महेंद्र पंवार, हरिराम मेहरा, मूलचंद, मामराज, हरिराम आदि मौजूद थे। इस मामले में एक दिन पहले ही एएसआई राधाकिशन के पक्ष में भी लोग कलेक्टर व एसपी को ज्ञापन देने पहुंचे थे। दूसरे पक्ष ने भी इस मामले में जांच की मांग की।

नागौर. कलेक्टर को ज्ञापन देते मेघवाल समाज के लोग

X
गेनाराम की बेटी का सुसाइड नोट आया सामने, लिखा : हमने चोरी की ही नहीं, आरोप कैसे बर्दाश्त
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..