--Advertisement--

उद्योग मेले का शुभारंभ, राज्य भर से आए व्यवसायी

नागौर. पशु प्रदर्शनी स्थल पर उद्योग मेले का निरीक्षण करते कलेक्टर और विधायक पशु प्रदर्शनी स्थल पर कलेक्टर,...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:20 AM IST
नागौर. पशु प्रदर्शनी स्थल पर उद्योग मेले का निरीक्षण करते कलेक्टर और विधायक

पशु प्रदर्शनी स्थल पर कलेक्टर, एसपी, विधायक और सभापति सहित आमजन रहे मौजूद

भास्कर संवाददाता | नागौर

जिला उद्योग केंद्र व दैनिक भास्कर के तत्वावधान में पशु प्रदर्शनी स्थल पर कलेक्टर कुमारपाल गौतम, विधायक हबीबुर्रहमान पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख, सभापति कृपाराम सोलंकी, एमडीएच नागौर के प्रबंध निदेशक सुरेश राठी की मौजूदगी में उद्योग व हस्तशिल्प मेले का उद्घाटन हुआ। मेले की शुरूआत फीता काटकर और भगवान गणेश की मूर्ति के सामने दीप प्रज्ज्वलन और स्तुति के साथ हुई। वैदिक मंत्रोच्चार के साथ मेले का शुभारंभ किया गया।

शुभ मुहूर्त के अनुसार मेले का आगाज दोपहर 12 बजे पशु प्रदर्शनी स्थल पर हुआ। अतिथियों ने मेले में दुकानों का निरीक्षण किया। इस अवसर पर कलेक्टर कुमारपाल गौतम ने कहा कि व्यवसायिक मेलों के लगने से जहां स्थानीय स्तर पर लोगों को रोजगार मिलता है वहीं प्रदेश के अन्य जिलों व अन्य राज्यों के उत्पादों से भी लोगों को क्रय करने का अवसर मिलता है साथ ही एक दूसरे की संस्कृति से भी रूबरू होने का अवसर प्राप्त होता है। उन्होंने कहा कि नागौर जिले में उद्योग धंधों की काफी संभावना है। जरूरत इस बात की है कि बेरोजगार व स्थानीय लोग अपने हुनर के माध्यम से पारंपरिक कार्य से जुड़े रहें। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों को चाहिए कि मेले में अधिकाधिक आकर जिले के बाहर से आए व्यवसायियों के उत्पादों से रूबरू होकर माल खरीदे, जिससे हमारे मेलों को भी पहचान मिल जाए।

कलेक्टर ने कहा कि इस तरह के मेलों के माध्यम से व्यवसायियों से बातचीत करने का भी एक प्लेटफार्म मिल जाता है। इस मेले में भी आयोजकों द्वारा यहां आने वाले व्यवसायियों से राज्य सरकार की उद्योग नीति सहित सिंगल विंडो के बारे में भी बातचीत करेंगे तथा उनके द्वारा बताए गए सुझावों को उचित माध्यम से सरकार तक प्रेषित किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि मेले में आने वाले व्यवसायी अपने उत्पाद को बहुत कम मार्जिन पर बेचते हैं। यहां विपणन का मतलब केवल अपने उत्पाद को पहचान दिलाना ही है। इस अवसर पर एसडीएम परसाराम टाक, महेंद्र सुराणा, रामेश्वर सारस्वत, सीएमएचओ डॉ. सुकुमार कश्यप, महेश्वरी महिला संगठन नीलू खड़लोया, पंडित महेश दाधीच, नृत्यगोपाल मित्तल, भोजराज सारस्वत, प्रमिल नाहटा मौजूद थे।

नागौर. पशु प्रदर्शनी स्थल पर मेले में खरीददारी करते लोग।

व्यवसायी अपने उत्पाद आसानी से बेच सकेंगे : हबीबुर्रहमान

इस अवसर पर नागौर विधायक हबीबुर्रहमान अशरफी लांबा ने कहा की मेले के माध्यम से हस्तशिल्प व महिला स्वयं सहायता समूह के द्वारा बने उत्पादों को एक स्थान मिलेगा। जहां भी अपना उत्पाद बेंच सकेंगे तथा शहर के लोग तथा बाहर से आए व्यक्ति भी महिलाओं द्वारा बनाए गए विभिन्न उत्पादों के बारे में बारीकी से जान पाएंगे। इस अवसर पर नगर परिषद के सभापति कृपाराम सोलंकी भी उपस्थित थे। समारोह के अंत में महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र नागौर सुग्रीव मीणा ने सबका आभार जताया। कार्यक्रम का संचालन मोहम्मद शरीफ छिंपा ने किया।

8 फरवरी तक चलेगा मेला

जिला उद्योग केंद्र के महाप्रबंधक सुग्रीव मीणा ने बताया कि नागौर उद्योग एवं हस्तशिल्प मेला 8 दिन तक चलेगा। मेले में लोक सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी किया जाएगा। मेले में कुशल बुनकरों, उद्यमियों और हस्तशिल्पियों के उत्पाद की स्टॉल्स लगाई गई है। इस दौरान कई सरकारी विभागों की ओर से भी प्रदर्शनी लगाई गई है। मेले का समय दोपहर 12 से रात 9:30 बजे तक है। मेले में हस्तशिल्प, ऊनी उत्पाद, घरेलू सामान, स्वयं सहायता समूह द्वारा निर्मित उत्पाद, हैंडलूम खादी वस्तुओं का प्रदर्शन और बिक्री भी हुई। मेले को लेकर जिले के साथ साथ आस पास के जिले के भी अनेक उद्यमियों ने रूचि दिखाई है।

मेले में उत्पादों के बारे में जान सकेंगे : एसपी

विशिष्ट अतिथि के रुप में पुलिस अधीक्षक परिस देशमुख ने कहा कि मेले में आने वाले व्यवसायी ने अपनी मेहनत व कौशल का प्रदर्शन किया है, बाहर से आए व्यवसायियों को नागौर के लोगों को चाहिए कि उनकी हौसला अफजाई करे। इस तरह के मेलों के आयोजन से बाहर के व्यवसायी, यहां के उत्पाद के बारे में जानेंगे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..