Hindi News »Rajasthan »Nagour» शिक्षा जगत में रचनात्मक नेतृत्व की बहुत अधिक जरूरत: शिवथानु पिल्लई

शिक्षा जगत में रचनात्मक नेतृत्व की बहुत अधिक जरूरत: शिवथानु पिल्लई

चेन्नई | जाने-माने वैज्ञानिक डॉ ए शिवथानु पिल्लई ने कहा है कि सरकार और शिक्षण संस्थाओं को रचनात्मक नेतृत्व की काफी...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 05:45 AM IST

चेन्नई | जाने-माने वैज्ञानिक डॉ ए शिवथानु पिल्लई ने कहा है कि सरकार और शिक्षण संस्थाओं को रचनात्मक नेतृत्व की काफी संख्या में जरूरत है। उन्होंने कहा कि 60 करोड़ युवाओं की क्षमताओं का सदुपयोग करके भारत को मजबूत राष्ट्र बनाने के लिए शिक्षा जगत सहित सभी क्षेत्रों में रचनात्मक नेतृत्व की जरूरत है। दुनिया में भारत की पहचान बनाने के लिए इन युवाओं की क्षमता का सही उपयोग करना होगा। आईसीटी एकेडमी की ओर से आयोजित ब्रिज-2918 कार्यक्रम में इसरो के मानद प्रोफेसर पिल्लई ने कहा कि भविष्य उच्च टेक्नोलाॅजी से संचालित होगा। आज उद्योग, शिक्षा और सरकार के बीच तालमेल करके तेजी से बदलने वाली दुनिया के साथ आगे बढ़ने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि दुनिया नित नई खोज और नई टेक्नोलॉजी के साथ तेजी से ज्ञान युग में बदल रही है। उन्होंने कहा, “भारत परमाणु ऊर्जा, एयरोस्पेस और नैनो टेक्नोलाॅजी सहित सभी क्षेत्रों में उल्लेखनीय प्रगति कर रहा है। अग्नि और ब्रह्मोस मिसाइलों के साथ हम एयरोस्पेस टेक्नोलॉजी में दुनिया के साथ कदम मिलाकर आगे बढ़ रहे हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×