--Advertisement--

10वीं के छात्रों के लिए अलग-अलग 33% अंक जरूरी नहीं

नई दिल्ली | सीबीएसई ने इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षा दे रहे छात्रों को बड़ी राहत दी है। अब उन्हें पास होने के लिए...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 05:55 AM IST
नई दिल्ली | सीबीएसई ने इस साल 10वीं बोर्ड की परीक्षा दे रहे छात्रों को बड़ी राहत दी है। अब उन्हें पास होने के लिए अलग-अलग 33 फीसदी अंक नहीं लाने होंगे। सीबीएसई ने इसके नियमों में बदलाव कर दिया है। यानी अब इंटरनल एग्जाम और बोर्ड एग्जाम को मिलाकर कुल 33 फीसदी अंक लाने वाले छात्र पास माने जाएंगे। इससे पहले छात्रों को पास होने के लिए इन दोनों परीक्षाओं में अलग-अलग 33 फीसदी अंक हासिल करने होते थे।

लैपटॉप पर परीक्षा दे सकेंगे विशेष जरूरत वाले छात्र

सीबीएसई ने विशेष जरूरत वाले छात्रों को बोर्ड परीक्षा के लिए बड़ी राहत दी है। बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षा दे रहे ऐसे छात्र कंप्यूटर या लैपटॉप का इस्तेमाल कर सकेंगे। लेकिन इनका इस्तेमाल सिर्फ जवाब टाइप करने, सवालों के फॉन्ट साइज यानी अक्षरों को बड़ा कर देखने और सवालों को सुनने के लिए ही किया जा सकेगा।