--Advertisement--

हमें इस बजट में ऐसा ही लाभ मिला है

पु राने समय की बात है। काशी में प्रताप नाम का राजा था। उसके बेटे व्रज का स्वास्थ्य खराब रहता था। एक बार व्रज ने प|ी...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:35 AM IST
पु राने समय की बात है। काशी में प्रताप नाम का राजा था। उसके बेटे व्रज का स्वास्थ्य खराब रहता था। एक बार व्रज ने प|ी चंद्रप्रभा से कहा- मैं मर जाऊं तो चिता में मेरा सारा धन रख देना। प|ी के होश उड़ गए। आखिर जब व्रज का देहांत हो गया, तो चंद्रप्रभा ने एक बड़ा डिब्बा चिता पर रखा। परिवार ने पूछा ऐसा क्यों कर रही हो? चंद्रप्रभा ने जवाब दिया- वो मेरे पति थे, मैं उनसे झूठ नहीं बोल सकती थी। मैंने सारा धन राजकोष में जमा करवा लिया है और चिता पर उनके नाम का भुगतान पत्र (चेक) रख दिया है। इतनी चतुराई से वादा निभाने पर चंद्रप्रभा की काफी प्रशंसा हुई। लोगों ने पूछा चंद्रप्रभा कौन हैं?

जवाब मिला- राजा की बहू चंद्रप्रभा अपने इसी चातुर्य के लिए प्रसिद्ध हैं और राज्य में वित्त विभाग संभालती हैं। वर्षों से जनता को ऐसे ही खुश कर रही हैं।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..