नागौर

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • 21025 वर्ग फीट जमीन पर 22 मीटर ऊंचा पांडाल बनाया, 108 कुंडीय यज्ञ में 9 दिन तक 4 हजार किलो घी की देंगे आहुतिय
--Advertisement--

21025 वर्ग फीट जमीन पर 22 मीटर ऊंचा पांडाल बनाया, 108 कुंडीय यज्ञ में 9 दिन तक 4 हजार किलो घी की देंगे आहुतियां

मौलासर में भगवान लक्ष्मीनारायण का 108 कुंडीय महायज्ञ 4 फरवरी से शुरू होगा। इसके लिए 21025 वर्ग फीट क्षेत्र में मंडल का...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 06:35 AM IST
मौलासर में भगवान लक्ष्मीनारायण का 108 कुंडीय महायज्ञ 4 फरवरी से शुरू होगा। इसके लिए 21025 वर्ग फीट क्षेत्र में मंडल का काम पूरा कर लिया है। मंडप करीब 22 मीटर (72 फीट) ऊंचा है। इसे बनाने में बांस और सरकंडे का उपयोग किया है। 12 फरवरी तक चलने वाले महायज्ञ में 9 दिन तक 400 से अधिक जोड़े विश्व कल्याण, अच्छी बारिश, पर्यावरण संरक्षण और गौ संवर्धन के लिए आहुतियां देंगे। बल्डाधाम के संत सीतारामदास महाराज के सान्निध्य में यह आयोजन होगा। आयोजन समिति के पदाधिकारियों का कहना है कि कार्यक्रम की तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। महायज्ञ के पहले दिन 4 फरवरी को कलश यात्रा निकाली जाएगी। कार्यकर्ता शुक्रवार व शनिवार को गांवों में जाकर पीले चावल देंगे और कलश यात्रा व कार्यक्रम में आने का न्यौता देंगे। 4 फरवरी को ट्रैक्टरों व अन्य वाहनों से सीतारामदास महाराज की अगुवाई में डाबड़ा, बावड़ी, रसीदपुरा, लादडिय़ा, अलखपुरा, कीचक और खाखोली से श्रद्धालु मौलासर पहुंचेंगे। जहां महिलाएं लक्ष्मीनारायण भगवान मंदिर से रवाना होगा मेगा हाइवे स्थित हनुमान मंदिर व रघुनाथ मंदिर होते हुए यज्ञ स्थल पर पहुंचेगी।

मौलासर में 4 से 12 फरवरी तक चलेगा लक्ष्मीनारायण भगवान का महायज्ञ, पहले दिन निकलेगी शोभायात्रा

मौलासर. 108 कुंडीय यज्ञ के लिए बना मंडप।

तीन पांडाल बनाए, एक में रासलीला, दूसरे में संत बैठेंगे

108 कुंडीय महायज्ञ के लिए तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है। आयोजन समिति के अनुसार, यज्ञ को लेकर यज्ञ स्थल पर 3 पांडाल बनाए गए हैं। जिसमें एक पांडाल में रासलीला होगी। दूसरे में बाहर से आए संतों के बैठने की व्यवस्था की जाएगी। जबकि तीसरे पांडाल में यज्ञ के लिए आने वाले पंडितों के लिए व्यवस्थाएं की गई हैं।

X
Click to listen..