Hindi News »Rajasthan »Nagour» गोपीचंद ने साइना, सिंधु और श्रीकांत के लिए बनाया स्पेशल प्लान, बोले- इस साल इंजर्ड हुए बिना ज्यादा

गोपीचंद ने साइना, सिंधु और श्रीकांत के लिए बनाया स्पेशल प्लान, बोले- इस साल इंजर्ड हुए बिना ज्यादा टूर्नामेंट जीतेंगे मेरे खिलाड़ी

बैडमिंटन के नंबर-1 कोच पी. गोपीचंद ने इस साल अपने खिलाड़ियों को नंबर-1 बनाने के लिए नया प्लान बनाया है। उन्होंने कहा कि...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 01, 2018, 02:40 PM IST

बैडमिंटन के नंबर-1 कोच पी. गोपीचंद ने इस साल अपने खिलाड़ियों को नंबर-1 बनाने के लिए नया प्लान बनाया है। उन्होंने कहा कि इंटरनेशनल शेड्यूल बेहद टफ है। खिलाड़ी को लगातार अच्छा खेलने के लिए हमेशा फिट रहना जरूरी है। बार-बार इंजर्ड होने वाला खिलाड़ी नंबर-1 नहीं बन सकता। इसलिए हम इस साल खिलाड़ी को इंजरी से बचाए रखने के लिए एक टूर्नामेंट रिटेन सिस्टम पर काम कर रहे हैं। इससे खिलाड़ी चोटिल हुए बिना ज्यादा टूर्नामेंट जीत सकेंगे। इसका सीधा फायदा रैंकिंग में होगा। फिलहाल पीवी सिंधुु और श्रीकांत वर्ल्ड नंबर-3 खिलाड़ी हैं। साइना नेहवाल 12वें स्थान पर काबिज हैं।

इंडियन ओपन बैडमिंटन शुरू, इस साल होंगे 27 बड़े टूर्नामेंट, गोपीचंद ने खिलाड़ियों की फिटनेस के लिए बनाया नया सिस्टम

बड़े टूर्नामेंट में ही उतरेंगे प्रमुख खिलाड़ी

गोपीचंद ने बताया कि इस साल काॅमनवेल्थ, एशियन गेम्स सहित 27 बड़े इंटरनेशनल बैडमिंटन टूर्नामेंट होंगे। वर्ल्ड बैडमिंटन एसोसिएशन ने साल में कम से कम 12 टूर्नामेंट खेलने जरूरी कर दिए हैं। इससे शेड्यूल टफ हो गया है। हमने इसका दबाव कम करने के लिए टूर्नामेंट रिटेन सिस्टम तैयार किया है। जो महत्वपूूर्ण टूर्नामेंट होंगे, उनमें बड़े रैंकिंग खिलाड़ी खेलेंगे। उनका फोकस केवल टूर्नामेंट जीतना होगा। टूर्नामेंट से पहले उसकी फिटनेस, कमियाें पर काम होगा। ताकि वह टूर्नामेंट जीतकर रैंकिंग में नंबर वन बने। दूसरे टूर्नामेंट में दूसरे स्तर के खिलाड़ियों को मौका दिया जाएगा। इससे ओलिंपिक से पहले भारत के पास कई खिलाड़ी होंगे।

सिंधु, साइना कर रहीं हार्डवर्क

गोपी ने कहा, ‘हम दबाव से निपटने के नए तरीकों पर काम कर रहे हैं। अब आप सिंधु या अन्य खिलाड़ियों को बड़े फाइनल में हारते हुए कम देखेंगे। बल्कि कोई भी खिलाड़ी अगर फाइनल में पहुंचा, तो उसके जीतने की संभावना फिटनेस की वजह से विरोधी खिलाड़ी से 10% हमेशा ज्यादा रहेगी। यह 10 फीसदी ही वर्ल्ड के हर बड़े खिलाड़ी पर भारी होंगे।’ गोपीचंद ने बताया कि सिंधु और साइना फाइनल में न हारें, इसके लिए वह हार्डवर्क कर रही हैं। खासकर वह वर्ल्ड नंबर वन ताइवान की ताई जू यिंग को हराने की रणनीति तैयार कर रही है। जू यिंग के खिलाफ साइना और सिंधु दोनों का रिकॉर्ड बेहद खराब है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×