• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • पांच छह माह में शिक्षकों के सभी खाली पद भर दिए जाएंगे : देवनानी
--Advertisement--

पांच-छह माह में शिक्षकों के सभी खाली पद भर दिए जाएंगे : देवनानी

Nagour News - बजट में मुख्यमंत्री ने 77100 पद भरने की घोषणा कर रखी है, शिक्षा का स्तर सुधरा-नेशनल अचीवमेंट सर्वे में कक्षा आठवीं में...

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 06:10 AM IST
पांच-छह माह में शिक्षकों के सभी खाली पद भर दिए जाएंगे : देवनानी
बजट में मुख्यमंत्री ने 77100 पद भरने की घोषणा कर रखी है, शिक्षा का स्तर सुधरा-नेशनल अचीवमेंट सर्वे में कक्षा आठवीं में अव्वल

पॉलिटिकल रिपोर्टर | जयपुर

अगले पांच-छह माह में प्रदेश में शिक्षकों के सभी पद भर दिए जाएंगे। खाली पदों को भरने के लिए ही 77,100 पदों की घोषणा की गई है। यह जानकारी शिक्षा राज्य मंत्री प्रो. वासुदेव देवनानी ने बुधवार को राज्य विधानसभा में पीलीबंगा से विधायक द्रोपती के प्रश्न और पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे। उन्होंने कहा कि राज्य में शिक्षा का स्तर सुधरा है। नेशनल अचीवमेंट सर्वे में किए गए मूल्यांकन के अनुसार प्रदेश कक्षा तीसरी में तीसरे, कक्षा पांचवीं में दूसरे और कक्षा आठवीं में पहले स्थान पर रहा है। प्रदेश के मिडिल और प्राइमरी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों में 91 प्रतिशत ने ए प्लस, ए और बी ग्रेड प्राप्त किया है। केवल 9.67 प्रतिशत बच्चे ही सी और डी ग्रेड में आए हैं।

उन्होंने कहा कि बच्चे को गुणवत्ता पूर्ण शिक्षा एक ही स्थान पर मिले और बार-बार टीसी लेकर घूमना न पड़े, इसी कारण क्रमोनयन की चर्चा की। चरणबद्ध तरीके से राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय क्रमोन्नत किया जाना है। इसके तहत जिन ग्राम पंचायतों में उच्चतम स्तर पर उच्च प्राथमिक विद्यालय संचालित हैं, उन्हीं का राजकीय माध्यमिक विद्यालय में क्रमोन्नत किया जाना है। उन्होंने बताया कि विधानसभा क्षेत्र पीलीबंगा की कोई भी ग्राम पंचायत इस श्रेणी में नहीं है। उन्होंने कहा कि विरासत में हमें 52 प्रतिशत पद रिक्त मिले थे। राज्य सरकार ने 67 हजार पदों पर नई नियुक्तियां की हैं और 1 लाख 9 हजार पदोन्नतियां की हैं। प्रो. देवनानी ने कहा कि आरटीई के तहत हर एक किलोमीटर पर प्राथमिक, दो किलोमीटर पर उच्च प्राथमिक तथा 5 किलोमीटर पर माध्यमिक विद्यालय की अनिवार्यता है। राज्य सरकार हर 5 किलोमीटर पर उच्च माध्यमिक विद्यालय खोलने के लिए प्रयासरत है। दूरी की वजह से कोई शिक्षा से वंचित न हो, इसके लिए कक्षा 9 की प्रत्येक छात्रा को साइकिल दी जाती है। विद्यार्थियों के लिए ट्रांसपोर्ट वाउचर भी दिए जाते हैं। उन्होंने बताया कि प्रारंभिक शिक्षा में एसआईक्यूई के माध्यम से गुणवत्तापूर्ण शिक्षा दी जा रही है। जिसमें सुधारात्मक रूप से एन.सी.ई.आर.टी. नई दिल्ली ने निर्धारित आउटकम के आधार पर राज्य में सीखने के प्रतिफल (लर्निंग आउटकम) निर्धारित किए हैं। शिक्षा राज्य मंत्री ने बताया कि बच्चों के शैक्षिक स्तर सुधार के लिए समुदाय व अभिभावकों को प्रेरित करने के लिए लीफलेट/पैम्फलेट बनाए गए हैं। उन्होंने माध्यमिक शिक्षा में शैक्षिक स्तर सुधार के लिए अनेक योजनाओं के संचालन की भी जानकारी दी। प्रो. देवनानी ने कहा कि विधानसभा क्षेत्र पीलीबंगा के रामावि पीलीबंगा गांव, रामावि डीगवाला, रामावि खेदासरी, रामावि भेरूसरी,रामावि कनवानी,रामावि गांधी नगर में संचालित माध्यमिक विद्यालयों को क्रमोन्नत करने के लिए प्रस्ताव वित्त विभाग को प्रस्तुत किए गए हैं।

X
पांच-छह माह में शिक्षकों के सभी खाली पद भर दिए जाएंगे : देवनानी
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..