• Hindi News
  • Rajasthan
  • Nagour
  • Merta News calling the two fugitives who were firing 5 youths were robbed 1 drunk in air four of them killed him
--Advertisement--

फरारी काट रहे 2 दोस्तों को बुला 5 युवक निकले थे लूटने नशे में 1 ने हवाई फायर किया तो चारों ने उसे ही मार दिया

Nagour News - भास्कर संवाददाता | रियां बड़ी बडायली गांव में गत बुधवार देर शाम एक बोलेरो में सवार 5 युवकों में से 1 की गोली लगने से...

Dainik Bhaskar

Dec 09, 2018, 04:11 AM IST
Merta News - calling the two fugitives who were firing 5 youths were robbed 1 drunk in air four of them killed him
भास्कर संवाददाता | रियां बड़ी

बडायली गांव में गत बुधवार देर शाम एक बोलेरो में सवार 5 युवकों में से 1 की गोली लगने से मौत के मामल का पुलिस ने शनिवार को खुलासा किया। दरअसल, पुलिस ने घटना के दिन पीछा कर जिन 2 बोलेरो सवार युवकों को पकड़ा था, उन्होंने साथी युवक को गोली मारने की बात कबूल की है। पुलिस इस प्रकरण में फरार 2 आरोपियों की तलाश कर रही है।

पादूकलां थानाधिकारी जितेंद्र सिंह चौधरी ने बताया कि पिछले बुधवार को बडायली में जो बोलेरो मिली थी, उस बोलेरो में सवार 5 युवक मेड़ता शहर में एक बड़ी लूट के इरादे से आए थे। पांचों आरोपी युवक मेड़ता स्थित नागौर चौकी क्षेत्र में बीओबी बैंक के पास ब्याज का धंधा करने वाले किसी सेवानिवृत्त अध्यापक के घर में लूट की वारदात को अंजाम देने वाले थे। लूट की वारदात की प्लानिंग भी मृतक युवक सुलेमान गौरी ने बनाई थी। इसके लिए वो डेढ़-दो महीने पहले मेड़ता आकर पूरे क्षेत्र का मौका मुआयना करके गया था।

इसी वारदात को अंजाम देने के लिए उसने दिल्ली में फरारी काट रहे धर्मेंद्र राठौड़ व असलम से संपर्क किया व उन्हें पूरी योजना बता वारदात में शामिल कर लिया। इसके बाद नागौर के ताराचंद को बुलवा लिया जो सीधे मेड़ता आ गया। फिर ये चारों आरोपी 30 नवम्बर को बस से मेड़ता आ गए। यहां मृतक सुलेमान गौरी ने अन्य आरोपियों को मेड़ता स्थित नागौर चौकी क्षेत्र में बीओबी बैंक के पास ब्याज का धंधा करने वाले किसी सेवानिवृत्त अध्यापक का घर दिखाया व नागौर चौकी पर एक चाय की होटल पर बैठे उसी सेवानिवृत्त अध्यापक की पहचान भी कराई।

पुलिस को मिली जानकारी अनुसार सुलेमान गौरी को यह जानकारी थी कि इस सेवानिवृत्त अध्यापक के घर पर हर समय लाखों रुपए की नकदी रहती है तथा ये शाम 4 से 6 बजे घर पर नहीं रहता, बल्कि इसकी औरत अकेली रहती है। इसलिए ये रिटायर अध्यापक के घर पर वारदात को अंजाम देने के लिए बोलेरो में घूम रहे थे।

कार से हुआ हादसा , 600 रु. में समझौता

पादूकलां पुलिस ने वारदात के बाद जसवंतगढ़ के निकट जेसलाना निवासी धर्मेंद्र राठौड़ को ग्राम लाडवा से व सोनेली निवासी ताराचंद पुत्र रामकिशोर जाट को भंवाल गांव से पकड़ लिया था। दोनों युवकों के पास से दो देशी कट्टे भी बरामद किए गए थे।

थानाधिकारी चौधरी ने बताया कि पूछताछ में ये भी सामने आया कि बडायली में 4 दिसंबर को लूट की वारदात को अंजाम देने के इरादे से सभी आरोपी मेड़ता पहुंचे और लूट की जगह की फिर एक बार रैकी की गई। इसके बाद बोलेरो खराब हो गई तो गेराज में ले गए। इसके बाद दूसरे दिन दिनभर भैरूंदा में रुके और यहां शराब पार्टी की। दोपहर बाद वापिस मेड़ता में वारदात अंजाम देने के लिए रवाना हुए मगर डोडियाना के आस-पास इनकी बोलेरो से किसी कार का एक्सीडेंट हो गया। जिस पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई।

बोलेरो में सवार इन युवकों ने 600 रुपए में समझौता कर मामले को रफा दफा कर दिया और मेड़ता के लिए रवाना हो गए।

थानेदार पर किया था फायर, बाद में चढ़े पुलिस के हत्थे

जिन समय इस घटना की जानकारी मिली उस समय पादूकलां एसएचओ जितेंद्र चौधरी अकेले ही नागौर की तरफ से पादूकलां आ रहे थे। ग्रामीणों से सूचना मिलते ही उन्होंने एनएच 89 पर नेतड़िया गांव के पास ट्रेलर को लगवाकर नाकाबंदी करवाई गई। वहीं आरोपी युवकों ने नाकाबंदी को देखते ही अपनी गाड़ी को दूसरी तरफ मोड़ते हुए उसे कच्चे रास्तों पर भगा दिया। थानाधिकारी जितेंद्र सिंह चौधरी ने भी कार को आरोपियों के पीछे दौड़ा दिया। भैंसड़ा के समीप आरोपी युवक ताराचंद ने एसएचओ चौधरी की स्विफ्ट पर एक फायर भी किया, पर एसएचओ चौधरी घबरा नहीं। और उन्होंने आरोपियों का पीछा जारी रखा। इसके बाद आरोपी बडायली के चौकीदारों के मोहल्ले में एक डेड एंड पर जाकर फंस गए। अपने आप को चारों ओर से घिरा देखकर आरोपी गाड़ी से उतर कर भाग गए। जिनमें से दो को पुलिस ने पकड़ लिया। जबकि असलम और मूलचंद अब तक पुलिस गिरफ्त में नहीं आ सके।

सुलेमान गौरी

सुलेमान ने ही की थी हवाई फायरिंग, दो आरोपियों की तलाश जारी

पांचों आरोपी मेड़ता के लिए जा ही रहे थे कि इसी बीच जैसे ही ये हाइवे पर पहुंचे तो खलासी सीट पर बैठे सुलेमान गौरी ने नशे में बोलेरो का गेट खोल हवाई फायर किए। शेष 4 आरोपियों ने उसे समझाने की कोशिश की पर वो नहीं माना। इस पर अन्य आरोपियों ने लूट फेल हो जाने व पुलिस के पकड़ में आ जाने के डर से 4 आरोपियों धर्मेंद्र राठौड़ निवासी जेसलाना जसवंतगढ़, ताराचंद पुत्र रामकिशोर जाट निवासी सोनेली, असलम निवासी लाडनूं व मूलचंद निवासी सुजानगढ़ ने डोडियाना में ही एक राय हो दूसरे देशी कट्टे से उसे गोली मार दी। फिर ये लोग पुलिस से बचने के लिए गांवों में बोलेरो सहित भागे और बडायली में डेड एंड पर आकर बोलेरो में घायल सुलेमान को छोड़ खुद फरार हो गए। इस बीच पुलिस पीछा करते हुए आई तो सुलेमान घायल मिला उसे मेड़ता अस्पताल ले गए जहां उसने दम तोड़ दिया। पुलिस पूछताछ में ये भी सामने आया है मृतक सहित धर्मेंद्र राठौड़, ताराचंद, असलम व मूलचंद शातिर अपराधी हैं। ये सभी अलग अलग थानों में कई प्रकरणों में फरार चल रहे हैं। जिनमें से मृतक सुलेमान गौरी, धर्मेंद्र राठौड़ व असलम घटना से पहले दिल्ली में एक साथ फरारी काट रहे थे।

पुलिस की गिरफ्त में गोली चलाने के आरोपी।

Merta News - calling the two fugitives who were firing 5 youths were robbed 1 drunk in air four of them killed him
X
Merta News - calling the two fugitives who were firing 5 youths were robbed 1 drunk in air four of them killed him
Merta News - calling the two fugitives who were firing 5 youths were robbed 1 drunk in air four of them killed him
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..