• Home
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • Nagaur - वातावरण स्वच्छ कैसे रखा जाए अधिकारियों ने अनुपयोगी वस्तुओं के साथ दिया उदाहरण
--Advertisement--

वातावरण स्वच्छ कैसे रखा जाए अधिकारियों ने अनुपयोगी वस्तुओं के साथ दिया उदाहरण

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत स्वच्छता का स्थायित्व बनाये रखने के लिये सरपंचों व अधिकारियों की कार्यशाला जिला...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 05:20 AM IST
स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत स्वच्छता का स्थायित्व बनाये रखने के लिये सरपंचों व अधिकारियों की कार्यशाला जिला कलेक्टर कुमारपाल गौतम की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई। कलेक्टर ने स्वच्छता, माहवारी प्रबंधन एवं पोषण अभियान में महिलाओं, जनप्रतिनिधियों की भूमिका पर प्रकाश डाला।

मुख्य कार्यकारी अधिकारी जिला परिषद रामनिवास जाट ने पंचायती राज संस्थाओं के जनप्रतिनिधियों में पंचायती राज, स्वच्छता एवं लोकतांत्रिक संस्था के विकास की आवश्यकता बताई। प्रशिक्षु आईएएस अवधेश मीणा ने ग्रामीण क्षेत्रों में स्वच्छता के साथ पोषण अभियान के संबंध पर विस्तृत प्रकाश डाला।

राजस्थान सरपंच संघ के अध्यक्ष भंवरलाल जानू तथा संरक्षक सुखाराम लूणियास ने स्वच्छता व पोषण के क्षेत्र में जिले की उपलब्धियों में ग्राम पंचायतों के योगदान की चर्चा की। कार्यशाला में जिला स्तरीय अधिकारी समस्त उपखण्ड अधिकारी, विकास अधिकारी, पंचायत प्रसार अधिकारी, पंचायती राज के अभियन्ता तथा करीब 200 सरपंचों ने भाग लिया। इस अवसर पर अधिकारियों ने प्रतिभागियों को स्वच्छता को लेकर लाइव डेमो भी दिया। उन्होंने प्लास्टिक, लोहा, फलों के कचरे आदि से बताया कि किस प्रकार कचरा भी उपयोगी हो सकता है। इसके साथ ही उन्होंने हर प्रतिभागी से एक एक कर योजनाओं के बारे में भी पूछा। इस दौरान बड़ी संख्या में अधिकारी टाउन हॉल में मौजूद रहे। इस अवसर पर कलेक्टर गौतम ने सरकारी योजनाओं की जानकारी अधिकारियों से ली। कार्यक्रम में महिला एवं बाल विकास विभाग की उपनिदेशक अनुराधा सक्सैना ने भी लोगों को विभिन्न विषयों को बेहद महत्वपूर्ण जानकारियां दी। कार्यक्रम का संचालक मोहम्मद शरीफ छींपा ने किया।

नागौर. स्वच्छता को लेकर आयोजित कार्यशाला में मौजूद सरपंच व अधिकारी।