• Home
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • Nagaur - मनुष्य को अपनी इंद्रियों पर विजय पाना जरूरी है, दान, शील, तप और भावना को बताया मुक्ति का मार्ग
--Advertisement--

मनुष्य को अपनी इंद्रियों पर विजय पाना जरूरी है, दान, शील, तप और भावना को बताया मुक्ति का मार्ग

बेहरावाड़ी उपासरा में चल रहे पर्युषण पर्व प्रवचन में मंगलवार को आचार्य ललित प्रभ सुरीश्वर महाराज ने प्रभु वीर के...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 05:21 AM IST
बेहरावाड़ी उपासरा में चल रहे पर्युषण पर्व प्रवचन में मंगलवार को आचार्य ललित प्रभ सुरीश्वर महाराज ने प्रभु वीर के चरित्र के माध्यम से प्रभु का उपसर्ग दीक्षा के दक्ष ज्ञान का वर्णन किया। इस दौरान दोपहर में केवल ज्ञान के बारे में ग्यारह ब्राहम्ण पंडित प्रभु के पास शंका लेके आए और प्रभु ने उनकी शंका का समाधान किया। प्रभु का समाधान सुनकर ग्यारह ब्राहम्ण ने प्रभु के पास दीक्षा ग्रहण की। और प्रभु ने शासन की स्थापना की। इस अवसर पर गौतम स्वामी का केवल ज्ञान हुअा। इस दौरान प्रभु ने कल्पसूत्र प्रवचन से उसका पूरा वर्णन किया। इस मौके पर समाज के लोग मौजूद थे।

स्वाध्याय भवन में वर्द्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ के तत्वावधान में पर्युषण पर्व के छठे दिन स्वाध्याय सुशीला बोहरा ने कहा कि यह पर्व आत्म अवलोकन का पर्व है। उन्होंने मुक्ति के चार मार्ग बताए। दान, शील, तप, और भावना। त्याग व तप का जीवन में बहुत महत्व है। छोटे- छोटे तप से आप कर्मों की निर्जरा कर सकते हो। अपनी इंद्रियों पर विजय पाना जरूरी है। ये आपके शत्रु है। आज मानव राग, द्वेष, मोह, क्रोध, अंहकार में जी रहा है। यह पर्व अपनी आत्मा को जगाने का पर्व है। वैराग्यवती बहन मोनिका ने तपस्या पर मार्मिक गीतिका प्रस्तुत की। स्वाध्याय मोहनलाल ने भजन प्रस्तुत किए। इस मौके पर सुमेरमल कनकमल सुराणा, सागरमल, सुभाषचंद्र, कमलेश ललवानी, अध्यक्ष भंवरलाल कांकरिया, सुरेश ललवानी, राजेन्द्र चौरड़िया, प्रमिल नाहटा, भैंरूदान बोथरा, पारसमल कोठारी, रिखबचंद नाहटा, अशोक ललवानी, सुरेन्द्र सुराणा, शुरवीरसिंह सुराणा, मांगीलाल बंजारा आदि मौजूद थे।

अराधना भवन काली पोल उपासरा में मंगलवार को माता र|माला म. के दर्शन करने आए बिकानेर शाखा से अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद के राजीव खजांची, धर्मेंद्र खजांची, विमल सेठिया व रोहित नाहटा का बहुमान अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद नागौर शाखा द्वारा किया गया। इस दौरान राजीव खजांची ने अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद शाखा बीकानेर व नागौर की बैठक का आयोजन कर कहां कि 16 व 17 सितंबर को गुरुदेव मणिधारी जिन चंद्रसुरी का जन्म दिवस के उपलक्ष्य में उनके जन्म स्थली विक्रमपुर में दो दिवसीय भक्ति संध्या का आयोजन अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद द्वारा किया जाएगा। इस मौके पर संजय डागा, देवेन्द्र डोसी, प्रदीप डागा, विकास बोथरा, दिलीप लूणावत, अभिषेक डोसी आदि मौजूद थे।

भास्कर संवाददाता| नागौर

बेहरावाड़ी उपासरा में चल रहे पर्युषण पर्व प्रवचन में मंगलवार को आचार्य ललित प्रभ सुरीश्वर महाराज ने प्रभु वीर के चरित्र के माध्यम से प्रभु का उपसर्ग दीक्षा के दक्ष ज्ञान का वर्णन किया। इस दौरान दोपहर में केवल ज्ञान के बारे में ग्यारह ब्राहम्ण पंडित प्रभु के पास शंका लेके आए और प्रभु ने उनकी शंका का समाधान किया। प्रभु का समाधान सुनकर ग्यारह ब्राहम्ण ने प्रभु के पास दीक्षा ग्रहण की। और प्रभु ने शासन की स्थापना की। इस अवसर पर गौतम स्वामी का केवल ज्ञान हुअा। इस दौरान प्रभु ने कल्पसूत्र प्रवचन से उसका पूरा वर्णन किया। इस मौके पर समाज के लोग मौजूद थे।

स्वाध्याय भवन में वर्द्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ के तत्वावधान में पर्युषण पर्व के छठे दिन स्वाध्याय सुशीला बोहरा ने कहा कि यह पर्व आत्म अवलोकन का पर्व है। उन्होंने मुक्ति के चार मार्ग बताए। दान, शील, तप, और भावना। त्याग व तप का जीवन में बहुत महत्व है। छोटे- छोटे तप से आप कर्मों की निर्जरा कर सकते हो। अपनी इंद्रियों पर विजय पाना जरूरी है। ये आपके शत्रु है। आज मानव राग, द्वेष, मोह, क्रोध, अंहकार में जी रहा है। यह पर्व अपनी आत्मा को जगाने का पर्व है। वैराग्यवती बहन मोनिका ने तपस्या पर मार्मिक गीतिका प्रस्तुत की। स्वाध्याय मोहनलाल ने भजन प्रस्तुत किए। इस मौके पर सुमेरमल कनकमल सुराणा, सागरमल, सुभाषचंद्र, कमलेश ललवानी, अध्यक्ष भंवरलाल कांकरिया, सुरेश ललवानी, राजेन्द्र चौरड़िया, प्रमिल नाहटा, भैंरूदान बोथरा, पारसमल कोठारी, रिखबचंद नाहटा, अशोक ललवानी, सुरेन्द्र सुराणा, शुरवीरसिंह सुराणा, मांगीलाल बंजारा आदि मौजूद थे।

अराधना भवन काली पोल उपासरा में मंगलवार को माता र|माला म. के दर्शन करने आए बिकानेर शाखा से अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद के राजीव खजांची, धर्मेंद्र खजांची, विमल सेठिया व रोहित नाहटा का बहुमान अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद नागौर शाखा द्वारा किया गया। इस दौरान राजीव खजांची ने अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद शाखा बीकानेर व नागौर की बैठक का आयोजन कर कहां कि 16 व 17 सितंबर को गुरुदेव मणिधारी जिन चंद्रसुरी का जन्म दिवस के उपलक्ष्य में उनके जन्म स्थली विक्रमपुर में दो दिवसीय भक्ति संध्या का आयोजन अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद द्वारा किया जाएगा। इस मौके पर संजय डागा, देवेन्द्र डोसी, प्रदीप डागा, विकास बोथरा, दिलीप लूणावत, अभिषेक डोसी आदि मौजूद थे।

भास्कर संवाददाता| नागौर

बेहरावाड़ी उपासरा में चल रहे पर्युषण पर्व प्रवचन में मंगलवार को आचार्य ललित प्रभ सुरीश्वर महाराज ने प्रभु वीर के चरित्र के माध्यम से प्रभु का उपसर्ग दीक्षा के दक्ष ज्ञान का वर्णन किया। इस दौरान दोपहर में केवल ज्ञान के बारे में ग्यारह ब्राहम्ण पंडित प्रभु के पास शंका लेके आए और प्रभु ने उनकी शंका का समाधान किया। प्रभु का समाधान सुनकर ग्यारह ब्राहम्ण ने प्रभु के पास दीक्षा ग्रहण की। और प्रभु ने शासन की स्थापना की। इस अवसर पर गौतम स्वामी का केवल ज्ञान हुअा। इस दौरान प्रभु ने कल्पसूत्र प्रवचन से उसका पूरा वर्णन किया। इस मौके पर समाज के लोग मौजूद थे।

स्वाध्याय भवन में वर्द्धमान स्थानकवासी जैन श्रावक संघ के तत्वावधान में पर्युषण पर्व के छठे दिन स्वाध्याय सुशीला बोहरा ने कहा कि यह पर्व आत्म अवलोकन का पर्व है। उन्होंने मुक्ति के चार मार्ग बताए। दान, शील, तप, और भावना। त्याग व तप का जीवन में बहुत महत्व है। छोटे- छोटे तप से आप कर्मों की निर्जरा कर सकते हो। अपनी इंद्रियों पर विजय पाना जरूरी है। ये आपके शत्रु है। आज मानव राग, द्वेष, मोह, क्रोध, अंहकार में जी रहा है। यह पर्व अपनी आत्मा को जगाने का पर्व है। वैराग्यवती बहन मोनिका ने तपस्या पर मार्मिक गीतिका प्रस्तुत की। स्वाध्याय मोहनलाल ने भजन प्रस्तुत किए। इस मौके पर सुमेरमल कनकमल सुराणा, सागरमल, सुभाषचंद्र, कमलेश ललवानी, अध्यक्ष भंवरलाल कांकरिया, सुरेश ललवानी, राजेन्द्र चौरड़िया, प्रमिल नाहटा, भैंरूदान बोथरा, पारसमल कोठारी, रिखबचंद नाहटा, अशोक ललवानी, सुरेन्द्र सुराणा, शुरवीरसिंह सुराणा, मांगीलाल बंजारा आदि मौजूद थे।

अराधना भवन काली पोल उपासरा में मंगलवार को माता र|माला म. के दर्शन करने आए बिकानेर शाखा से अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद के राजीव खजांची, धर्मेंद्र खजांची, विमल सेठिया व रोहित नाहटा का बहुमान अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद नागौर शाखा द्वारा किया गया। इस दौरान राजीव खजांची ने अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद शाखा बीकानेर व नागौर की बैठक का आयोजन कर कहां कि 16 व 17 सितंबर को गुरुदेव मणिधारी जिन चंद्रसुरी का जन्म दिवस के उपलक्ष्य में उनके जन्म स्थली विक्रमपुर में दो दिवसीय भक्ति संध्या का आयोजन अखिल भारतीय खरतरगच्छ युवा परिषद द्वारा किया जाएगा। इस मौके पर संजय डागा, देवेन्द्र डोसी, प्रदीप डागा, विकास बोथरा, दिलीप लूणावत, अभिषेक डोसी आदि मौजूद थे।