• Home
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • जेईई एडवांस्ड के पेपर के निर्देशों को पढ़ने के लिए दिए जाएंगे 20 मिनट
--Advertisement--

जेईई एडवांस्ड के पेपर के निर्देशों को पढ़ने के लिए दिए जाएंगे 20 मिनट

कोटा | जेईई एडवांस्ड के ऑनलाइन पेपर के शुरू होने से पहले इसके दिशा निर्देशों को पढ़ने के लिए स्टूडेंट्स को 20 मिनट का...

Danik Bhaskar | May 15, 2018, 03:35 AM IST
कोटा | जेईई एडवांस्ड के ऑनलाइन पेपर के शुरू होने से पहले इसके दिशा निर्देशों को पढ़ने के लिए स्टूडेंट्स को 20 मिनट का टाइम दिया जाएगा। ऑनलाइन एग्जाम में स्टूडेंट्स के पास सहूलियत रहेगी कि वह दिए गए आंसरों पर फिर से जाकर उनमें बदलाव कर सकेंगे। वहीं एडवांस्ड में दिए गए सवालों की भाषा को बदलने का ऑप्शन भी स्टूडेंट्स के पास रहेगा। कोटा में एडवांस्ड का सेंटर नहीं होने के कारण इस साल भी स्टूडेंट्स को अन्य शहरों के जाकर परीक्षा देनी होगी। भीषण गर्मी ने स्टूडेंट्स की दिक्कत बढ़ा दी है। इसीलिए एक्सपर्ट ने सलाह दी है कि वह एडवांस्ड से एक दिन पहले संबंधित शहर में जाकर अपने सेंटर को देख ले। उधर, जेईई एडवांस्ड के एडमिट कार्ड जारी कर दिए गए हैं। स्टूडेंट्स एडवांस्ड की साइट पर दिए गए लिंक पर जाकर जेईई एडवांस्ड का रजिस्ट्रेशन नंबर, जन्म तारीख, मेन में भरा गया रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और ईमेल एड्रेस डालकर लॉग इन करना होगा।

रफ वर्क के लिए मिलेगा स्क्रिम्बल पैड

ऑनलाइन पेपर होने के कारण स्टूडेंट्स को कैलकुलेशन हल करने के लिए सेंटर पर स्क्रिम्बल पैड दिया जाएगा। जो कि परीक्षा समाप्त होने के बाद ही सेंटर पर जमा करवाना होगा। परीक्षा समाप्त होने से पहले किसी भी सेंटर छोड़ने की अनुमति नहीं होगी। इस एग्जाम में भी जूते अलॉऊ नहीं होंगे। स्टूडेंट्स को चप्पल व सैंडल पहनकर ही आना होगा। इसके साथ ही इलेक्ट्रॉनिक गैजेट्स, घड़ी, किसी भी प्रकार आभूषण पहनकर सेंटर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा। किसी भी प्रकार ताबीज व माला भी सेंटर पर प्रतिबंधित रहेगी। पहला पेपर सुबह नौ से 12 बजे तक होगा। दूसरा पेपर दोपहर दो से शाम पांच बजे तक होगा। रिपोर्टिंग टाइम सुबह साढ़े सात बजे का रखा गया है। कंप्यूटर स्क्रीन पर स्टूडेंट्स का नाम, फोटोग्राफ व रोल नंबर डिस्प्ले होगा।

कलर कोडिंग से पहचान पाएंगे स्टेट्स

स्क्रीन पर आने वाले सवालों को कलर कोडिंग के जरिए पहचान कर पाएंगे। कौनसे सवाल कर लिए है, कौनसे बाकी है, कौन से सवाल रि-चैक करने है, आदि की कलर कोडिंग स्क्रीन पर ही आएगी। स्टूडेंट्स को डाउनलोड किए गए एडमिट कार्ड को सेंटर पर दिखाना होगा। क्रॉस चैक करके सेंटर पर अधिकारी उनको ओरिजनल एडमिट कार्ड जारी करेंगे। आईआईटी अलॉट होने तक इस एडमिट कार्ड को स्टूडेंट्स को अपने पास ही रखना होगा।