Hindi News »Rajasthan »Nagour» 6 जोड़ों का निकाह, संकल्प लिया, फिजूलखर्ची रोकेंगे

6 जोड़ों का निकाह, संकल्प लिया, फिजूलखर्ची रोकेंगे

भास्कर संवाददाता | आलनियावास कस्बे के कासिम शाह वली की दरगाह पर शनिवार को नागौर जिला देशवाली समाज सुधार संस्थान...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 13, 2018, 05:35 AM IST

  • 6 जोड़ों का निकाह, संकल्प लिया, फिजूलखर्ची रोकेंगे
    +1और स्लाइड देखें
    भास्कर संवाददाता | आलनियावास

    कस्बे के कासिम शाह वली की दरगाह पर शनिवार को नागौर जिला देशवाली समाज सुधार संस्थान की ओर से प्रथम सामूहिक विवाह सम्मेलन में 6 जोड़े निकाह कबूल कर हमसफर बने। संस्थान अध्यक्ष सुलेमान खां हरसौर ने दूल्हा-दुल्हन को आशीर्वाद दिया। इस मौके पर सचिव शौकत अली भाटी ने नागौर जिले में पहली बार आयोजित सामूहिक विवाह सम्मेलन पर प्रकाश डालते हुए बताया कि इस तरह के विवाह सम्मेलन से समाज में फिजूल खर्च पर अंकुश तो लगेगा ही साथ-साथ समाज में एकजुटता आएगी। शफी खान सोलंकी भकरी ने बताया कि विवाह सम्मेलन में सभी जोड़ों को घरेलू सामान व जेवरात भेंट किए गए।

    सामूहिक विवाह सम्मेलन में उपस्थित देशवाली समाज के लोग ।

    आलनियावास से शुरुआत, देंगे संदेश

    देशवाली समाज के 16 खेड़े हैं। जिले में मेड़ता, परबतसर, सूरजगढ़, गोविंदगढ़, किला, पीह, हरसौर, भैरूंदा, भकरी, पादू, पीपलाद समेत कई जगहों पर समाज के लोग रह रहे हैं। समाज के सचिव शौकत अली भाटी ने बताया कि अब पूरे जिले में शादियों में फिजूलखर्ची रोकने के लिए अभियान चलाया जाएगा।

    सामूहिक विवाह सम्मेलन में मंच पर उपस्थित दूल्हे।

    3 साल से हो रही थी बैठकें, अब सफलता

    सामाजिक कार्यकर्ता विक्रमसिंह टापरवाड़ा, अहसान अली खीची डीडवाना, कालू खां समेत लोगों ने इसकी सराहना की। इस मौके पर भाटी ने बताया कि 2015 से बैठकें हो रही थी। इस बार सामूहिक विवाह सम्मेलन कराने में कामयाब रहे। सामूहिक विवाह सम्मेलन को लेकर समाज के लोगों ने इसे सराहनीय बताया।

  • 6 जोड़ों का निकाह, संकल्प लिया, फिजूलखर्ची रोकेंगे
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×