• Home
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • हवाई पट्टी पर अब रात में उतर सकेंगे विमान, तीन करोड़ रुपए से लगेगी लाइट, होगी मार्किंग
--Advertisement--

हवाई पट्टी पर अब रात में उतर सकेंगे विमान, तीन करोड़ रुपए से लगेगी लाइट, होगी मार्किंग

शहर को हवाई सेवा से जोड़ने की ओर एक और कदम सरकार ने उठाया है। पीडब्ल्यूडी को सरकार ने 3 करोड़ रुपए की सेंक्शन मिली है...

Danik Bhaskar | Aug 12, 2018, 05:46 AM IST
शहर को हवाई सेवा से जोड़ने की ओर एक और कदम सरकार ने उठाया है। पीडब्ल्यूडी को सरकार ने 3 करोड़ रुपए की सेंक्शन मिली है जिसके बाद रात में विमानों को रात में भी उतारा जा सकेगा। जल्दी ही लाइटिंग लगाने और मार्किंग का काम शुरू हो सकेगा। सरकार ने इस संबंध में जयपुर से आदेश दिए है जिसके तहत मुंबई की एक एविएशन कंपनी यह काम करेगी। इससे राजस्थान में नागौर में भी हवाई सेवा का विस्तार हो सकेगा। यानी अब नागौर में दिन और रात दोनों समय विमानों की आवाजाही शुरू हो जाएगी। सरकार ने गत दिनों पर्यटन गतिविधियों में तेजी लाने के उद्देश्य से पांच हवाई पट्टियाें को लेकर महत्वपूर्ण निर्णय लिए थे। जिसमें भीलवाड़ा, गंगानगर, सवाईमाधोपुर, माउंट आबू और नागौर शामिल थे। इस पट्टी को लेकर सीएम वसुंधरा राजे ने साल 2015 के अपने दौरे में विस्तार को लेकर रूचि दिखाई थी। इसके अलाव यहां एयर ट्रैफिक एडवाइजरी सिस्टम इंस्टॉल होंगे। लाइटिंग इंस्टाल का काम करने वाली कंपनी के कार्मिक नागौर पहुंच गए है।

नागौर. हवाई पट्‌टी, जहां रात के समय भी उतर सकेंगे विमान।

दो माह पहले ही नागौर आई थी सर्वेक्षण टीम

गत मई में ही एक सर्वेक्षण टीम जोधपुर से आई थी। जिसमें भी रिपोर्ट सरकार को भेजी गई थी। इस संबंध में साल भर पहले ही कवायद शुरू कर दी गई थी। गत मई में भारतीय हवाई अड्डा प्राधिकरण की जोधपुर टीम ने नागौर में हवाई पट्टी का निरीक्षण कर रिपोर्ट तैयार कर उड्डयन मंत्रालय को भेजी थी। विभिन्न खसरों में अवाप्ति भूमि के चयन का कार्य भी जारी है। इस संबंध में भूमि अवाप्ति भी की जा रही है।

वित्तीय स्वीकृति अटकने से रुके काम

गत 23 मार्च को 11 करोड़ से अधिक की प्रशासनिक स्वीकृतियां जारी हुई थी। लेकिन वित्तीय स्वीकृतियां जारी नहीं होने से काम रूका है। जिसमें चौड़ाई करने के 335 लाख, दीवार बनाने के 2 करोड़, नवीनीकरण आदि के काम होने थे। यह प्रक्रिया नागौर हवाई पट्टी का विस्तार कर इसे रीजनल कनेक्टिविटी स्कीम से जोड़ने की कवायद के तहत हुई है।

मुख्यमंत्री ने नागौर दौरे पर दिखाई थी हवाई पट्टी में रुचि

साल 2015 में जब सीएम वसुंधरा राजे नागौर आई थी तब उन्होंने नागौर में हवाई पट्टी के विस्तार को लेकर रुचि दिखाई थी। जिसके बाद पट्टी के आस पास निर्माण होने सहित पूरी रिपोर्ट प्रशासन ने भेजी थी। जिसके बाद पट्टी की लम्बाई 1500 मीटर से बढ़ाकर 2000 मीटर तथा चौड़ाई 30 से 45 मीटर किया जाना है। विस्तार के बाद 200 सीटर वाले विमान भी यहां संचालित होने लगेंगे।

व्यापार को मिलेगा बढ़ावा, बड़े शहरों तक होगी पहुंच

नागौर में आने और यहां से जाने वाले व्यापारियों के लिए हवाई सेवा के विस्तार से लाभ होगा। नागौर में पान मैथी, मार्बल सहित अनेक प्राकृतिक संपदाएं है। जिसे लेने के लिए व्यापारी बाहर से नागौर आते है। अगर विमान सेवा शुरू होती है तो बड़े शहरों से नागौर सीधे जुड़े जाएगा।

यहां के व्यापारी भी कम समय में बाहर जा सकेंगे। इसके अलावा अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास होने के कारण भी हवाई पट्टी महत्वपूर्ण साबित होगी। इससे पूर्व कई पायलटों सहित नागरिक उड्डयन मंत्रालय अधिकारियों ने इस रन वे को लेकर सकारात्मक विचार व्यक्त किए थे।