Hindi News »Rajasthan »Nagour» मां-बेटी काे अगवा कर पिता-भाई ने बेचा, खरीदने वालों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

मां-बेटी काे अगवा कर पिता-भाई ने बेचा, खरीदने वालों ने किया सामूहिक दुष्कर्म

खींवसर के भेड़ हाल बालवा निवासी एक युवती और उसकी मां का उसके पिता व भाई ने अपहरण कर लिया। उन्होंने उन्हें पारवा...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 12, 2018, 05:50 AM IST

खींवसर के भेड़ हाल बालवा निवासी एक युवती और उसकी मां का उसके पिता व भाई ने अपहरण कर लिया। उन्होंने उन्हें पारवा गांव में तीन युवकों को बेच दिया। जिन्होंने उन्हें कई दिनों तक बंधक बनाकर रखा और युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। मौका पाकर युवती बदमाशों के चंगुल से बचकर भाग गई। अब युवती ने अपने पिता और भाई समेत पांच लोगों के खिलाफ कोर्ट इस्तगासे से नोखा थाने में मामला दर्ज करवाया है। मामले की जांच नोखा वृत्ताधिकारी को सौंपी गई है।

कोर्ट इस्तगासे से थाने में दर्ज करवाई गई रिपोर्ट में युवती ने बताया कि वह भेड़ की निवासी है। लेकिन वर्तमान में बालवा में ननिहाल में रहती है। उसके पिता और दो भाई 22 जुलाई को उसके ननिहाल आए। उन्होंने उसके मामा को मां-बेटी को उठाकर ले जाने और बेच देने की धमकी दी। युवती ने बताया कि उसके पिता और भाई मामा पर सहयोग करने का आरोप लगा रहे थे और जान से मार देने की धमकी देने लगे। उसी रात को उसके पिता और 2 भाई,भंवरलाल पुत्र रामदेव मेघवाल निवासी बालवा के साथ बोलेरो में ढाणी आए। उन्होंने मां-बेटी को नशीली दवा सुंघा दी। जिससे वे बेसुध हो गई। इसके बाद मां और बेटी को बोलेरो में जबरदस्ती डाला। वे दोनों को बीकानेर के पारवा गांव में बने एक मकान पर ले गए। उन्होंने मांं बेटी को पारवा निवासी बीरमाराम पुत्र अमानाराम मेघवाल, रामूराम मेघवाल और राजाराम मेघवाल को बेच दिया। जिसकी एवज में पिता को बदमाशों ने रुपए भी दिए।

इसके बाद तीनों आरोपियों ने मां और बेटी को बंधक बना लिया। यहां बारी-बारी से तीनों युवकों ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया। उन्हें नशे की गोलियां भी दी गई ताकि दोनों बेसुध रहती। रिपोर्ट में युवती ने बताया कि बदमाश उन्हें धमकी देते थे कि भागने की कोशिश की तो वे उन दोनों को जान से मार देंगे। युवती ने बताया कि आरोपियों ने जबरदस्ती उसके और मां के हस्ताक्षर और अंगूठे कागजों पर भी ले लिए हैं।

अलग रहते हैं मां-बाप, पिता ने की दूसरी शादी

पुलिस के अनुसार, पीड़िता ने बताया कि उसके माता-पिता अलग रहते हैं। उसके पिता ने दूसरा विवाह कर रखा है। उसकी मां और पिता दस साल से अलग रहे हैं। मां और बेटी अकेले ढाणी में रहते हैं। इसी का फायदा अपहरण करने आए पिता और भाइयों ने उठाया। जानकारी है कि युवती और उसकी माता ढाणी बनाकर काफी समय से वहीं रह रहे थे। बालवा में युवती का ननिहाल है। इस संबंध में पिता और दो भाइयों सहित एक अन्य पर अपहरण और तीन पर दुष्कर्म का मामला दर्ज किया गया है।

16 दिन बाद दोनों भागी बदमाशों के चंगुल से

पीड़िता ने अपनी रिपोर्ट में बताया कि छह अगस्त की रात को दोनों आरोपियों के चंगुल से निकलकर वे अपने गांव बालवा आ गई। वे यहां बस से पहुंची थी। घबराई हुई मां बेटी ने अपने मामा को पूरी घटना बताई। इसके बाद नोखा थाने में लिखित रिपोर्ट दी। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद बीकानेर पुलिस अधीक्षक को भी मामले की जानकारी दी। लेकिन कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद पीड़िता ने कोर्ट की सहायता से परिवाद दर्ज करवाया। जिस पर न्यायालय के आदेश पर उन्होंने मुकदमा दर्ज करवाया है। एसएचओ मनोज शर्मा ने बताया कि पिता, दो भाइयों सहित सात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×