Hindi News »Rajasthan »Nagour» 6415 ने दी आरएएस-प्री परीक्षा, 1482 रहे अनुपस्थित 1 बजे बहाल होनी थी इंटरनेट सेवा, 1:30 बजे हुई सुचारू

6415 ने दी आरएएस-प्री परीक्षा, 1482 रहे अनुपस्थित 1 बजे बहाल होनी थी इंटरनेट सेवा, 1:30 बजे हुई सुचारू

आरपीएससी की आरएएस-प्री 2018 परीक्षा रविवार को नागौर के 24 केंद्रों पर शांतिपूर्वक संपन्न हुई। परीक्षा को देखते हुए...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 06, 2018, 05:50 AM IST

  • 6415 ने दी आरएएस-प्री परीक्षा, 1482 रहे अनुपस्थित 1 बजे बहाल होनी थी इंटरनेट सेवा, 1:30 बजे हुई सुचारू
    +1और स्लाइड देखें
    आरपीएससी की आरएएस-प्री 2018 परीक्षा रविवार को नागौर के 24 केंद्रों पर शांतिपूर्वक संपन्न हुई। परीक्षा को देखते हुए लगाए गए साइबर कर्फ्यू से शहरवासी परेशान रहे। केंद्रों पर अभ्यर्थियों की गहनता से जांच की गई। परीक्षा सुबह 10 से 1 बजे तक हुई। 81 प्रतिशत परीक्षार्थियों ने परीक्षा दी। कुल 7897 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। लेकिन परीक्षा देने 6415 ही पहुंचे। 1482 परीक्षार्थी अनुपस्थित रहे। परीक्षा केंद्रों पर अभ्यर्थियों के पहुंचने का सिलसिला सुबह 8 बजे पहले ही शुरू हो गया था। आयोग द्वारा तय किए गए ड्रेस कोड से अलग नजर आए अभ्यर्थी सुरक्षाकर्मियों व केंद्र स्टाफ के खास निशाने पर रहे। ऐसे में पंजीकृत अभ्यर्थी हल्के कपड़े और हवाई या स्लीपर चप्पल पहन कर पहुंचने वालों को ही ही केंद्र में परीक्षा देने की अनुमति मिली। अधिकतर अभ्यर्थी नागौर जिले से ही शामिल थे। 24 केंद्रों पर परीक्षा को लेकर 435 वीक्षक, गहन निगरानी के लिए तीन उडऩदस्ते ने अलग-अलग केंद्रों पर पहुंच जांच की। साथ ही केंद्रों पर 37 ऑब्जर्वर तैनात रहे। परीक्षा को लेकर सुबह 9 से 1:30 बजे तक शहर में इंटरनेट सेवा ठप रही। इससे मोबाइल इंटरनेट से जुड़े कार्य सहित अन्य कार्य प्रभावित हुए। परीक्षा के एक घंटे पूर्व यानी 9 बजे से इंटरनेट सेवा बंद करने की घोषणा की गई थी। जो 1 बजे बहाल होनी थी। लेकिन 1:30 बजे बाद सुचारू हो पाई। इंटरनेट बंद रहने से व्यापक असर पड़ा। शहर के लोग परेशान रहे। इससे पहले 14-15 जुलाई को कांस्टेबल भर्ती परीक्षा की वजह से इंटरनेट बंद रखा गया था।

    मूल पहचान-पत्र नहीं लाने पर परीक्षा से रहना पड़ा वंचित।

    गले और कानों के जेवरात उतरवाए

    महिला अभ्यर्थियों द्वारा पहने कानों व गले के जेवरात भी सुरक्षा कर्मियों ने उतरवा दिए। कई अभिभावक वाहनों की चाबियों से कानों की बालियां आदि तोड़ते नजर आए। इधर, जो भी सामान अभ्यर्थी लेकर पहुंचे, उसे सेंटर के बाहर ही रखवा दिया गया। नागौर केंद्रों पर परीक्षार्थी फोटो लाना भूल गए तो कोई फोटो पहचान पत्र लाना भूल गया। कई परीक्षार्थी केंद्र पर जूते पहनकर पहुंचे, जिन्हें परीक्षा केन्द्र के बाहर ही जूते उतारने पड़े।

    अभ्यर्थी के गले से चैन उतराते हुए।

    मूल पहचान-पत्र नहीं लेकर पहुंचे, परीक्षा से रहना पड़ा वंचित

    शहर के कांकरिया स्कूल केंद्र पर परीक्षा देने पहुंची कुचेरा की महिला अभ्यर्थी नमिता टेलर प्रवेश-पत्र के अलावा मूल पहचान-पत्र नहीं लेकर पहुंचने पर उन्हें परीक्षा दिए बगैर ही वापस लौटना पड़ा।

    हालांकि उन्होंने ई-मित्र पर पहुंच रंगीन आधार कार्ड की भी प्रति निकलवाई थी, लेकिन केंद्र पर वापस पहुंची तब तक 10.35 बजे गए। केंद्र पर परीक्षा देने उन्हें प्रवेश के लिए इजाजत नहीं मिली।

  • 6415 ने दी आरएएस-प्री परीक्षा, 1482 रहे अनुपस्थित 1 बजे बहाल होनी थी इंटरनेट सेवा, 1:30 बजे हुई सुचारू
    +1और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×