• Hindi News
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • मनुष्य अपने इस अनमाेल जीवन को सुधारने का प्रयत्न करें तो दूर नहीं है विकास: डॉ. सुयशनिधि
--Advertisement--

मनुष्य अपने इस अनमाेल जीवन को सुधारने का प्रयत्न करें तो दूर नहीं है विकास: डॉ. सुयशनिधि

श्री अखिल भारतीय श्वेतांबर स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ शाखा नागौर के तत्वावधान में चल रहे चातुर्मास के...

Dainik Bhaskar

Aug 06, 2018, 05:50 AM IST
मनुष्य अपने इस अनमाेल जीवन को सुधारने का प्रयत्न करें तो दूर नहीं है विकास: डॉ. सुयशनिधि
श्री अखिल भारतीय श्वेतांबर स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ शाखा नागौर के तत्वावधान में चल रहे चातुर्मास के अंतर्गत रविवार को सामूहिक एकाशन का आयोजन रखा गया। जिसके लाभार्थी कमलचंद, संजय कुमार पींचा रहे। महिलाओं के लिए भिक्षु दया का आयोजन रखा गया। प्रभावना के लाभार्थी किशोर चंद, पवन कुमार पारख रहे। युवा जागृति शिविर के तहत समणी डॉ. सुयशनिधि ने बताया कि इस अनमोल जीवन को सुधारने का प्रय| किया जाए तो विकास दूर नहीं। शरीर की स्वस्थता के साथ-साथ मानसिक एवं आध्यात्मिक स्वास्थ्य भी परम आवश्यक है। जैन समणी सुगमनिधि ने कहा की स्वयं के द्वारा स्वयं का अध्ययन करना स्वाध्याय है। संचालन संजय पींचा ने किया। प्रवचन की प्रभावना के लाभार्थी गणेशमल, नवर|मल कांकरिया रहे। श्री जयमल जैन आध्यात्मिक ज्ञान ध्यान संस्कार शिविर लगाया गया। शिविर एवं दर्शन प्रतिमा के पुरस्कार के लाभार्थी संतोष देवी, निर्मल कुमार चौरड़िया रहे। हरकचंद नाहर ने बताया की प्रवचन में पूछे गए तीन प्रश्नों के उत्तर जयेश पींचा, सम्यक भुरट, चंचल देवी बेताला ने दिए। सायर देवी चोरड़िया का तेले का पारना हुआ व 25 जनों का दल राजेंद्र ललवानी एवं निकेश चौरड़िया के नेतृत्व में गुरुदेवों के दर्शनाें के लिए हेतु रायपुर गया। इस मौके पर फ़तहचंद, नरपतचंद ललवानी, एम. अशोक ललवानी, प्रकाशचंद बोहरा उपस्थित रहे।

X
मनुष्य अपने इस अनमाेल जीवन को सुधारने का प्रयत्न करें तो दूर नहीं है विकास: डॉ. सुयशनिधि
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..