• Home
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • बीमा कंपनी पर लगाया जुर्माना, ब्याज सहित देनी होगी राशि, जिला उपभोक्ता मंच का फैसला
--Advertisement--

बीमा कंपनी पर लगाया जुर्माना, ब्याज सहित देनी होगी राशि, जिला उपभोक्ता मंच का फैसला

नागौर जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष मंच ने बीमा कंपनी को सेवा में कमी का दोषी मानते हुए वाहन की बीमा राशि मय ब्याज...

Danik Bhaskar | May 18, 2018, 05:55 AM IST
नागौर जिला उपभोक्ता विवाद प्रतितोष मंच ने बीमा कंपनी को सेवा में कमी का दोषी मानते हुए वाहन की बीमा राशि मय ब्याज के लौटाने का फैसला दिया है। मेड़ता निवासी बाबूलाल वैष्णव ने परिवाद पेश कर बताया कि परिवादी ने चोलामंडलम इंश्योरेंस कंपनी व एयू फाइनेंस से ट्रेक्टर का बीमा करवाया था। परिवाद में बताया कि 19 नवंबर 2015 से 18 नवंबर 2016 की अवधि के लिए ट्रेक्टर का बीमा कंपनी की ओर से किया गया था। इस बीच 10 फरवरी 2016 को बीमित अवधि के दौरान ट्रेक्टर चोरी हो गया। ट्रैक्टर चोरी को लेकर परिवादी की ओर से मेड़तारोड थाने में प्रकरण दर्ज करवाने के साथ बीमा कंपनी को बताया गया था। परिवादी ने बीमित वाहन के क्लेम के लिए कंपनी में आवेदन किया। बीमित अवधि के दौरान ट्रैक्टर का बीमा 2 लाख 30 हजार रुपए कर रखा था। कंपनी ने देरी से सूचना देने का बहाना बनाकर क्लेम खारिज कर दिया। उपभोक्ता मंच के अध्यक्ष ईश्वर जयपाल व सदस्य राजलक्ष्मी आचार्य ने दोनों पक्षों को तथ्यों के साथ सुना। इसके बाद मंच की ओर से बीमा कंपनी को 2 लाख 30 हजार रुपए 9 प्रतिशत वार्षिक ब्याज के साथ अदा करने का फैसला सुनाया है। परिवादी को 10 हजार रुपए मानसिक व 5 हजार रुपए परिवाद खर्च के रूप में कंपनी देगी। एक माह के भीतर फैसले का पालन नहीं करने पर उपभोक्ता अधिनियम के तहत कानूनी प्रावधानों के अनुरूप कार्यवाही के साथ 10 हजार रूपये की राशि जुर्माने के रूप में वसूल की जाएगी।