--Advertisement--

तरावीह की नमाज आज, पहला रोजा कल

नागौर/बासनी | रमजान माह का चांद बुधवार को नजर नहीं आया। कस्बे की जामा मस्जिद के नायब इमाम मौलाना नासिर अहमद ने बताया...

Danik Bhaskar | May 17, 2018, 06:00 AM IST
नागौर/बासनी | रमजान माह का चांद बुधवार को नजर नहीं आया। कस्बे की जामा मस्जिद के नायब इमाम मौलाना नासिर अहमद ने बताया कि बासनी में शाम को चांद कहीं नजर नहीं आया और ना ही कहीं से चांद की शहादत मिली। लिहाजा गुरुवार को चांद रात होगी। मौलाना नासिर अहमद ने बताया कि पहला रोजा अब शुक्रवार को होगा। पहली तरावीह की विशेष नमाज गुरुवार की रात को पढ़ी जाएगी। दरगाह बड़े पीर साहब के सज्जादा नशीन पीर सैयद सदाकत अली जीलानी और शहर काजी मोहम्मद मेराज उस्मानी ने बताया कि नागौर में चांद कहीं नजर आया। इसलिए पहला रोजा नागौर में भी शुक्रवार को ही होगा।

1998

में बनी मस्जिद।

बासनी में स्थित रजा मस्जिद अपने आकार और आकर्षक बनावट के लिए भी मशहूर है। कटोरानुमा बनी इस मस्जिद का निर्माण वर्ष 1998 में बासनी के ग्रामीणों ने करवाया। इस मस्जिद में करीब 1500 व्यक्ति एक साथ नमाज अदा कर सकते है।