Hindi News »Rajasthan »Nagour» 1 किमी रैली निकाल पशु प्रदर्शनी स्थल से कलेक्ट्रेट पहुंचे, 28 हजार किसानों के हस्ताक्षर का ज्ञापन भी एडीएम को दिया, रखी 10 मांगें

1 किमी रैली निकाल पशु प्रदर्शनी स्थल से कलेक्ट्रेट पहुंचे, 28 हजार किसानों के हस्ताक्षर का ज्ञापन भी एडीएम को दिया, रखी 10 मांगें

अखिल भारतीय किसान सभा के देशव्यापी आह्वान पर जिलेभर के किसानों ने गुरुवार को सांकेतिक गिरफ्तारी दी। पुलिस ने...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 10, 2018, 06:05 AM IST

1 किमी रैली निकाल पशु प्रदर्शनी स्थल से कलेक्ट्रेट पहुंचे, 28 हजार किसानों के हस्ताक्षर का ज्ञापन भी एडीएम को दिया, रखी 10 मांगें
अखिल भारतीय किसान सभा के देशव्यापी आह्वान पर जिलेभर के किसानों ने गुरुवार को सांकेतिक गिरफ्तारी दी। पुलिस ने कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन कर रहे किसानों को बसों में बैठाकर पशु प्रदर्शनी स्थल पर छोड़ा। इससे पहले सुबह 11 बजे से जिलेभर कि किसान पशु प्रदर्शनी स्थल पर इकट्ठा होने लगे। वहां से जुलूस के रूप में कलेक्ट्रेट पहुंचे। नारेबाजी कर विरोध जताया। कलेक्ट्रेट परिसर में किसानों को घुसने से रोकने के लिए पुलिस ने बेरिकेड्स लगाए हुए थे। भारी पुलिस जाब्ता भी तैनात किया गया। कलेक्ट्रेट परिसर में घुसने की बात पर किसानों की पुलिस अधिकारियों से बहस भी हुई। इसके बाद एक प्रतिनिधि मंडल को ज्ञापन देने कलेक्ट्रेट में जाने की अनुमति दी गई।

प्रतिनिधि मंडल ने किसानों की मांगों का ज्ञापन एडीएम बृजेश कुमार चंदेलिया को सौंपा। जिलेभर के 28 हजार किसानों के हस्ताक्षर करवाकर ज्ञापन दिया गया। इसके लिए किसान सभा की ओर से पिछले दिनों हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया था। उल्लेखनीय है कि 2017 में दिल्ली में 183 किसान संगठनों की ओर से हुई किसान संसद में किसानों की ओर से दो विधेयक पास किए गए थे। इन विधेयकों को संसद के दोनों सदनों में पास करवाने की मांग को लेकर किसानों ने सांकेतिक गिरफ्तारी दी। इन विधेयकों में किसान का संपूर्ण कर्ज मुक्ति विधेयक 2018 और फसल के भाव का गारंटी विधेयक 2018 शामिल हैं।

वक्ता बोले

पशु प्रदर्शनी स्थल पर हुए सभा को कई वक्ताओं ने संबोधित किया। अध्यक्ष भागीरथ नेतड़ ने कहा कि अखिल भारतीय किसान सभा ने सहकारी ऋण माफ करवाया। कृषि कनेक्शन पर बिजली की दरें भी कम करवाई। अब किसान संसद में पास किए गए दोनों विधेयकों को संसद के दोनों सदनों में पास करवाकर ही दम लेंगे। उन्होंने कहा कि हरा चारा नर्सरी श्रेणी के फार्म हाउस के स्पेशल श्रेणी के महंगी दरों के कनेक्शनों को सामान्य श्रेणी में करवाया। सचिव मोतीलाल शर्मा ने कहा कि सभा ने प्रयास कर सुपर ट्रांसफार्मर को रुकवाया और खींवसर में समर्थन मूल्य पर खरीद केंद्र खुलवाया। सीएमएम सचिव भागीरथ यादव ने कहा कि सभा ने ही खींवसर में नकली खाद गिरोह का पर्दाफाश किया। नकली खाद आज भी खींवसर थाने में पड़ा है। सभा को प्रदेश उपाध्यक्ष नारायण राम डूडी, कानाराम, रामसिंह, राजेंद्र शर्मा, दुर्गाराम, चुनाराम, रामकरण, अब्बास खां, रामप्रसाद और रामदेव आदि ने भी संबोधित किया। सभा में मकराना, नावां, डीडवाना सहित जिलेभर से किसान आए।

ऋ ण माफ करवाया, बिजली दरें घटवाई, अब विधेयक पास करवाएंगे

पांच थानों, पुलिस लाइन से मंगवाया जाब्ता, आरएसी भी तैनात: किसानों के प्रदर्शन और गिरफ्तारी को देखते हुए पुलिस ने भारी पुलिस जाब्ता तैनात किया। कलेक्ट्रेट के बाहर गोटन थानाधिकारी गजराज, मूंडवा थानाधिकारी सुशीला विश्नोई, कोतवाली थानाधिकारी सुरेंद्र जोधा और खींवसर थानाधिकारी के नेतृत्व में जाब्ता तैनात किया गया। इसके साथ ही पुलिस लाइन, यातायात पुलिस थाने का जाब्ता भी तैनात किया गया। आरएसी की टुकड़ी तैनात रही।

सरकार व बीमा कंपनियों के खिलाफ खोला मोर्चा

सरकार से की आठ मांग

फसली ऋण की सीमा बढ़ाने और सभी किसानों को फसली ऋण दिया जाए।

सहकारी समितियों का ऋण किसानों को जल्द दिया जाए।

किसानों के अवधिपार ऋण होने पर किसान की जमीन कुर्क नहीं की जाए।

आवारा और जंगली जानवरों से फसल सुरक्षा की व्यवस्था की जाए।

गांवों में बंद मनरेगा कार्य शुरू हो।

श्रम विभाग द्वारा चलाई जा रही योजनाओं का लाभ श्रमिकों को दिया जाए। इसमें शिथिलता और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाया जाए।

मूंग, मूंगफली व बाजरे की सरकारी खरीद की व्यवस्था समय पर की जाए। बकाया राशि का जल्द भुगतान हो।

बीमा कंपनियों के खिलाफ विरोध

खरीफ 2017 और रबी 2017 का किया क्लेम किसानों के खातों में जमा करवाया जाए।

खरीफ 2017 में फसल बीमा कंपनियों द्वारा की गई अनियमितताओं की जांच की जाए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×