--Advertisement--

चाय के नशे से भी दूर रहने का किया आह्वान

नागौर| जयमल जैन पौषधशाला में अखिल भारतीय श्वेतांबर स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ के तत्वावधान में जारी...

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2018, 06:05 AM IST
चाय के नशे से भी दूर रहने का किया आह्वान
नागौर| जयमल जैन पौषधशाला में अखिल भारतीय श्वेतांबर स्थानकवासी जयमल जैन श्रावक संघ के तत्वावधान में जारी चातुर्मास के तहत रविवार को चमत्कारिक जय जाप हुआ। जयमल जैन आध्यात्मिक ज्ञान-ध्यान संस्कार शिविर लगाया गया। 16 सती आराधना तप में 30 श्रावक-श्राविकाओं ने एकासन किए। समणी निर्देशिका डॉ. सुयशनिधि ने कहा जब तक आंतरिक चिंतन नहीं बदलेगा, दिनचर्या नहीं बदल सकती। उन्होंने रात्रि भोजन त्याग, परिवार में एक दूसरे को जय जिनेंद्र कहते हुए चरण स्पर्श, नवकार मंत्र स्मरण, चाय के नशे से मुक्त होना आदि दिनचर्या में बदलाव लाने की प्रेरणा दी। प्रवचन की प्रभावना के लाभार्थी जंवरीमल, कमलचंद, राहुल सुराणा रहे। दर्शन प्रतिमा व शिविर की प्रभावना के लाभार्थी शोभा देवी, सुशील कुमार चौरडिय़ा रहे।

प्रवासी भारतीय दंपती ने भी लिया आशीर्वाद

समणी वृंद के दर्शन के लिए अमेरिका से निहालचंद व डिंपल जैन सपरिवार आए। उदयपुर से दौलतचंद सिंघवी भी धर्मसभा में आए। उनका सम्मान किया गया। जयेश पींचा ने बताया कि प्रवचन में पूछे गए 3 प्रश्नों के उत्तर शुभम छल्लाणी, एम. मनोज ललवानी, प्रेरणा चौरड़िया ने दिए। उनको डूंगरवाल परिवार ने सम्मानित किया। अशोक चौरड़िया के तेले तप का सम्मान कुशालचंद लोढ़ा ने 8 खुले उपवास से किया। विजेता जयेश पींचा, जितेश चौरड़िया, प्रिंस बोहरा, सुनीता ललवानी, रेखा सुराणा, कल्पना ललवानी, हर्षा चौरडिय़ा, दिव्या लोढा रहे।

जैन संत भूषण मुनि को दी श्रद्धांजलि

जैन संत भूषण मुनि महाराज का दिल का दौरा पड़ने से रविवार सुबह सूरत में देवलोकगमन हो गया। डॉ. सुयशनिधि, समणी सुगमनिधि, समणी सुधननिधि, समणी सुयोगनिधि, समणी श्रद्धानिधि आदि ठाणा 5 के सान्निध्य में उन्हें श्रद्धांजलि दी गई।

X
चाय के नशे से भी दूर रहने का किया आह्वान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..