Hindi News »Rajasthan »Nagour» महिलाओं ने मनाया सिंजारा, हरियाली तीज आज, 38 साल बाद 15 अगस्त को नाग पंचमी, 4 साल बाद इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा नहीं

महिलाओं ने मनाया सिंजारा, हरियाली तीज आज, 38 साल बाद 15 अगस्त को नाग पंचमी, 4 साल बाद इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा नहीं

हरियाली तीज के साथ ही सोमवार से पर्व और व्रत का सिलसिला शुरू हो रहा है। इसे श्रावणी तीज भी कहा जाता है। वहीं, रविवार...

Bhaskar News Network | Last Modified - Aug 13, 2018, 06:10 AM IST

महिलाओं ने मनाया सिंजारा, हरियाली तीज आज, 38 साल बाद 15 अगस्त को नाग पंचमी, 4 साल बाद इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा नहीं
हरियाली तीज के साथ ही सोमवार से पर्व और व्रत का सिलसिला शुरू हो रहा है। इसे श्रावणी तीज भी कहा जाता है। वहीं, रविवार को महिलाओं ने सिंजारा मनाया। सावन के महीने में हर दूसरे-तीसरे दिन कोई न कोई पर्व, व्रत और शुभ तिथि का संयोग है। वहीं, सावन के तीसरे सोमवार के मौके पर दिनभर शिवालयों में भक्त जलाभिषेक करेंगे।

नाग पंचमी 15 अगस्त को मनाई जाएगी। 38 साल बाद इस साल नाग पंचमी 15 अगस्त को आ रही है। नाग पंचमी सावन की शुक्ल पक्ष की पंचमी 15 अगस्त को हस्त नक्षत्र, साध्य योग व कन्या राशि के चंद्रमा के साक्षी में मनाई जाएगी। इसमें विशेष यह है कि बुधवार हस्त नक्षत्र का होना सिद्धि योग का निर्माण करेगा।

हस्त नक्षत्र के स्वामी सूर्य हैं और साध्य योग की स्वामिनी सावित्री है। कन्या राशि का स्वामी बुध है। संयोग से बुधवार के दिन बुध की राशि में चंद्रमा की साक्षी में इस तरह के योग से नाग पंचमी का होना खासकर सूर्य, राहु, बुध का कर्क राशि में गोचरस्थ रहना विशेष घटनाक्रम है। वहीं, भाई-बहन के स्नेह का पर्व रक्षा बंधन भी इस बार खास होगा। चार साल में पहली बार इस साल रक्षा बंधन पर भद्रा नहीं होगी।

सावन के तीसरे सोमवार पर आज शिवालयों में होंगे अभिषेक, श्राद्धपक्ष तक हर दूसरे-तीसरे दिन पर्व, व्रत व शुभ तिथि का संयोग

संयोग

सूर्योदय से पहले ही खत्म हो जाएगा भद्रा

भाई-बहन के अटूट प्रेम के पर्व रक्षाबंधन पर इस बार भद्रा का साया नहीं रहेगा। सूर्योदय से पहले ही भद्रा समाप्त हो जाने से बहनें दिनभर भाइयों की कलाई पर राखी बांध सकेंगी। सूर्योदय व्यापिनी तिथि मानने के कारण रात में भी राखी बांधी जा सकेगी। ज्योतिषियों के अनुसार 4 साल बाद ऐसा संयोग बना रहा है कि इस बार रक्षाबंधन पर भद्रा का साया नहीं रहेगा।

26 अगस्त को दिनभर बहनें बांध सकेगी भाइयों की कलाई पर राखी

महिलाओं-युवतियों ने कबड्‌डी प्रतियोगिता में की जोर आजमाइश

मूंडवा आंचलिक। शहर के नागौर रोड स्थित माहेश्वरी समाज के बंग परिवार की कुल देवी के मन्दिर के बाहर बगीचे में रविवार को स्थानीय महिलाओं, युवतियों और बच्चों ने सावन के मौसम का आनन्द लिया। शहर के भट्टड़ों चौक व आस-पास के क्षेत्र में रहने वाली महिलाओं, युवतियों व बच्चों ने सावन की सामूहिक गोठ की। मंदिर के बगीचे में महिलाओं ने कबड्‌डी, बैडमिंटन, आंखों पर पट्टी बांधकर कर एक दूसरे को पकड़ना आदि खेलों का लुत्फ उठाया। इस दौरान महेश्वरी महिला मण्डल की अध्यक्षा सुशीला भट्टड़, आरती बंग, राखी, संतोष राठी, सुशीला, सुमित्रा, मंजू, कोमल, शांति आदि ने भाग लिया। इसी प्रकार युवतियाें में प्रीति बंग, माधुरी, पायल, सुधा, शिल्पा, शालिनी, वंदना, पूनम, राधिका, सृष्टि शामिल हुईं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Nagour

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×