• Home
  • Rajasthan News
  • Nagour News
  • स्वास्थ्य योजनाओं की एएनएम स्तर तक हो निगरानी, इनकी नियमित प्रगति रिपोर्ट भी ली जाए : डॉ. कश्यप
--Advertisement--

स्वास्थ्य योजनाओं की एएनएम स्तर तक हो निगरानी, इनकी नियमित प्रगति रिपोर्ट भी ली जाए : डॉ. कश्यप

सीएमएचओ डॉ. सुकुमार कश्यप ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा के लिए बुधवार को...

Danik Bhaskar | Aug 09, 2018, 06:16 AM IST
सीएमएचओ डॉ. सुकुमार कश्यप ने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग की योजनाओं और कार्यक्रमों की समीक्षा के लिए बुधवार को अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंस से बैठक ली। उन्होंने कहा कि सरकार गांव-ढाणी तक बैठे हर व्यक्ति के लिए कल्याणकारी योजनाएं और कार्यक्रम चला रही है। इनके सफल संचालन के लिए उप स्वास्थ्य केंद्र पर नियुक्त एएनएम तक का दायित्व है। जिला स्तर से लेकर पीएचसी स्तर पर नियुक्त चिकित्सा अधिकारी मॉनिटरिंग में सहभागिता निभाए। उन्होंने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सेवाओं से जुड़े हर इंडिकेटर को सुदृढ़ किया जाए। ताकि जिला राज्य स्तर पर रैंकिंग में अव्वल रहे। उन्होंने कहा कि संस्थागत प्रसव, टीकाकरण, प्रसुति नियोजन दिवस, राजश्री योजना, जननी सुरक्षा योजना, भामाशाह स्वास्थ्य बीमा योजना, एनसीडी कार्यक्रम, निक्षय-टीबी नियंत्रण प्रोग्राम, आईडीएसपी प्रोग्राम, अंधता निवारण कार्यक्रम, मानसिक स्वास्थ्य कार्यक्रम जैसी सभी योजनाओं की प्रगति रिपोर्ट समय-समय पर ली जाए। वीडियो कॉन्फ्रेंस में एनसीडी के जिला कार्यक्रम समन्वयक प्रेमशंकर शर्मा, जिला आईईसी समन्वयक हेमंत उज्जवल, मोहित तंवर, डाॅ. जोया रिजवान, डाॅ. अभिषेक चौधरी और डाॅ. रामूराम आदि शामिल हुए।

निर्देश

सीएमएचओ ने कार्यक्रमों और योजनाओं की समीक्षा के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंस से ली बैठक

मौसमी बीमारियों की रोकथाम की रिपोर्ट हर सप्ताह भेजनी होगी

सीएमएचओ डॉ. कश्यप ने कहा कि मौसमी बीमारियों की रोकथाम को लेकर हर स्तर पर कार्रवाई की जाए। एएनएम अपने कार्यक्षेत्र में एंटी लार्वा गतिविधियां करें। इसकी साप्ताहिक रिपोर्ट पीएचसी के चिकित्सा प्रभारी बीसीएमओ को भिजवाएं। जिला प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. मुश्ताक अहमद ने प्रधानमंत्री सुरक्षित मातृत्व अभियान, संस्थागत प्रसव, एमसीएचएन डे की प्रगति रिपोर्ट अपडेट रखने के निर्देश दिए। एनएचएम के जिला नोडल अधिकारी भवानीसिंह हापावत ने ब्लाॅक वार प्रगति रिपोर्ट पर बीसीएमओ से चर्चा की।

जिला क्षय रोग नियंत्रण अधिकारी डाॅ. श्रवण राव ने निक्षय अभियान को लेकर 6 अगस्त से शुरू हुए सर्वे और उसकी रिपोर्टिंग को लेकर निर्देश दिए। एपिडेमोलॉजिस्ट शाकिर खान ने मौसमी बीमारियां जैसे मलेरिया और डेंगू की रोकथाम को लेकर फोगिंग, एंटी लार्वा गतिविधियां और पानी के नमूने लेने के संबंध में निर्देशों की जानकारी दी। साथ ही विभिन्न कार्यक्रमों को लेकर आवश्यक निर्देश दिए।